नई दिल्ली भारतीय टीम इस महीने अफगानिस्तान से एकमात्र टेस्ट मैच खेलने के बाद आयरलैंड देश का दौरा करेगी जहां वह दो टी-20 खेलेगा। टीम इंडिया इसके बाद इंग्लैंड का दौरा करेगी जहां टीम तीन टी-20, तीन वनडे मैच और पांच टेस्ट खेलेगी। ऐसे में तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में भारत के कप्तान विराट कोहली सचिन द्वारा स्थापित एक बड़ा रिकॉर्ड तोड़ सकते हैं।

 यह रिकॉर्ड सबसे तेज एकदिवसीय क्रिकेट में 10000 रन पूरा करने का है। विराट कोहली के नाम अभी 208 मैचों की 200 पारियों में 9588 रन बनाए हैं। जिसमें उनका टॉप स्कोर 183 है। विराट के दिमाग में निश्चित तौर पर यह रिकॉर्ड होगा। बता दें कि विराट अभी इस जादुई आंकड़ें से 412 रन दूर हैं। यह सीरीज तीन मैचों की है लिहाजा यह रिकॉर्ड बनाना थोड़ा मुश्किल लगता है। पर क्रिकेट में कब क्या हो जाए कहा नहीं जा सकता।

एक दिवसीय क्रिकेट में रिकॉर्ड की बात हो और उसमें सचिन तेंदुलकर का नाम ना हो ऐसा तो हो ही नहीं सकता है। सचिन तेंदुलकर एक दिवसीय मैचों में सबसे तेज 10000 रन बनाने के मामले में पहले नंबर पर आते हैं। सचिन तेंदुलकर ने साल 2001 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मात्र 259 वनडे पारियों में 10000 रनों का आंकड़ा पार कर लिया था। सचिन तेंदुलकर के नाम वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड भी है। सचिन तेंदुलकर ने अपने करियर के दौरान 463 वनडे मैचों में 96 अर्धशतक और 49 शतकों की मदद से 18426 रन बनाए।