सचिवालय में शुक्रवार को गुर्जर नेताओं की अधिकारियों के साथ अहम बैठक हुई. बैठक में समझौते की पालना में अब तक हुई कार्रवाई पर चर्चा की गई.  बैठक में गुर्जर नेताओं ने समझौते के बिंदुओं पर कार्यवाही नहीं होने पर नाराजगी जताई.  राज्य सरकार के साथ समझौते के बिंदुओं की क्रियान्विति करने के लिए यह तीसरी बैठक थी. इससे पहले दो बैठक हो चुकी हैं.


बैठक के दौरान ही सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव जेसी महांति गुर्जर नेताओं को मनाते हुए नजर आए.  बैठक के बाद गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक हिम्मत सिंह ने राज्य सरकार पर समझौते की पालना नहीं करने का आरोप लगाया.


उन्होंने कहा कि गुर्जर नेता सोमवार को कैबिनेट सब कमेट में शामिल मंत्रियों राजेंद्र सिंह राठौड़, अरुण चतुर्वेदी और हेम सिंह भड़ाना से मुलाकात करेंगे और अपना पक्ष रखेंगे. इसके बाद भी सरकार समझौते से पीछे हटती है तो आगामी रणनीति तय की जाएगी.


उल्लेखनीय है कि 19 मई को राज्य सरकार और गुर्जर नेताओं को बीच समझौता हुआ था. समझौते के बाद गुर्जर नेताओं ने 23 मई को प्रस्तावित आंदोलन स्थगित करने की घोषणा की थी.