मुंबई |  कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी 12 जून को मुंबई में शक्ति नामक परियोजना शुरू करेंगे, जिससे पार्टी कार्यकर्ताओं से सीधा संवाद कायम किया जा सकेगा और विभिन्न मुद्दों पर उनकी राय ली जा सकेगी। 

 कांग्रेस के एक नेता ने शनिवार को कहा, राहुल मंगलवार को मुंबई के अपने बहुप्रतीक्षित दौरे के दौरान जमीनी स्तर के पार्टी कार्यकर्ताओं से मिलेंगे और शक्ति नाम की परियोजना शुरू करेंगे। मुंबई कांग्रेस के प्रमुख संजय निरुपम ने भी एक बयान जारी कर कहा, यह एक खास पहल है। राहुल पार्टी की आधारशिला तैयार करने वाले कांग्रेस कार्यकर्ताओं से मुखातिब होंगे। 

निरुपम ने कहा, शक्ति परियोजना से न सिर्फ जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं से जुड़ने में मदद मिलेगी। बल्कि यह भी सुनिश्चित हो सकेगा कि यदि उनकी कोई शिकायत है, तो उनका तत्काल समाधान हो। इससे मुंबई की समस्याओं को सूक्ष्म स्तर पर देखने में भी मदद मिलेगी। उन्होंने कहा, राहुल अपने लोगों से हमेशा संपर्क में रहना चाहते हैं और वह मानते हैं कि शक्ति  परियोजना इस प्रयास में मददगार होगी। 

 बयान में कहा गया कि इस पहल का मकसद कांग्रेस में दोतरफा संवाद (कांग्रेस के जमीनी कार्यकर्ताओं और पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व के बीच) कायम करना है। इस परियोजना के लिए पार्टी कार्यकर्ताओं को सूचीबद्ध किया जाएगा और फिर उन्हें पार्टी पदाधिकारियों की ओर से मुहैया कराए गए एक फोन नंबर पर एसएमएस भेजना होगा। इस परियोजना से आंतरिक तौर पर संवाद का उचित प्रवाह सुनिश्चित हो सकेगा। इससे पार्टी कार्यकर्ता केंद्रीय नेतृत्व को अपने विचारों एवं सुझावों से अवगत करा सकेंगे। इससे उनका मनोबल बढ़ेगा। यह परियोजना राष्ट्रीय स्तर पर चलाई जाएगी। राहुल का मुंबई प्रवास के दौरान पार्टी के बूथ स्तरीय कार्यकर्ताओं को भी संबोधित करने का कार्यक्रम है।