नशे की लत, अंडर वर्ल्ड से नाता, अपनों को खोना और फिर जेल में सजा काटना...इतनी स्ट्रग्ल भरी जिंदगी को पीछे छोड़ आए संजय दत्त शायद आज भी अपने बीते कल के बारे में सोचकर सहम जाते होंगे. ना सिर्फ संजय दत्त बल्कि‍ उनके करीबी भी शायद संजय दत्त की लाइफ के उस काले दौर को याद नहीं करना चाहते हों. संजय दत्त पर बनी बायोपिक संजू जल्द रिलीज होने जा रही है. इस फिल्म में उनकी जिंदगी के कई पहलुओं को दिखाने की कोशि‍श की गई है.

संजय दत्त की जिंदगी से जुड़ी एक घटना के बारे में बात करें तो उसे जानकर आप खुद भी इस बात का अंदाजा लगा सकते हैं कि संजय दत्त किस कदर नशे की लत में डूबे हुए थे. संजय दत्त ने नशे की हालत में अपनी बहन नम्रता को इतनी जोर से धक्का दिया था कि नम्रता का पांव तक फ्रैक्चर हो गया था.

साल 1987 में सोसायटी मैगजीन को दिए इंटरव्यू में नम्रता दत्त ने उस दौर की बात की जब उन्होंने संजय दत्त को नशे की लत से बाहर लाने की कोशि‍श की थी.

नम्रता ने इस इंटरव्यू में कहा था- मैंने संजय दत्त से कई बार बात करने की कोशि‍श की लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. वो उनके(ड्रग्स) बिना बिल्कुल नहीं रह सकते थे.यहां तक कि वह बहुत हिंसक हो जाया करते थे. हमारे बीच बहुत लड़ाईयां भी हुईं , कई बार ये झगड़े बहुत ज्यादा बिगड़ जाया करते थे. नम्रता ने भाई संजय दत्त के साथ एक रात हुए उनके बड़े झगड़े के बारे में बात की.

नम्रता ने बताया- 'उस भयानक रात संजय दत्त  शराब के नशे में चूर होकर घर लौटे. मां की मौत के कुछ ही दिनों के बाद की ये घटना है. मैं बहुत दुखी थी और संजय को इस हालत में देखकर मुझे और खराब लगा. मैं उस पर चिल्लाई फिर वो भी मेरे पर चिल्लाए, मैंने गुस्से में उन्हें धक्का दिया. और इसके बाद शराब के नशे में संजय ने मुझे इतनी जोर से धक्का दिया कि मेरा पांव फ्रैक्चर हो गया.'

नशे की लत ने संजय दत्त की जिंदगी में किस करदर जहर घोला था इसका जिक्र डायरेक्टर राज‍कुमार हिरानी ने अपकमिंग फिल्म संजू में भी दर्शाया है. संजू फिल्म 29 जून को र‍ि‍लीज होने जा रही है.