लखनऊ का आलमबाग बस अड्डा प्रदेश के सबसे हाइटेक बस अड्डों में शुमार होने जा रहा है. 12 जून को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस बस अड्डे को जनता को समर्पित करेंगे. 235 करोड़ की लागत से बने इस बस अड्डे में 125 कमरे का लग्जरी होटल, 6 स्क्रीन सिनेमाहाल, शॉपिंग मॉल के अलावा पार्किंग की व्यवस्था की गई है


इसके बाद इसमें 1000 नई बसों को भी जोड़ा जाएगा. वहीं 235 करोड़ की लागत से पीपीपी मॉडल पर बने प्रदेश के पहले बस अड्डे में 125 कमरों का लग्जरी होटल, 6 स्क्रीन का सिनेमाहाल, शॉपिंग मॉल से लेकर पार्किंग की शानदार व्यवस्था की गई है.आलमबाग बस अड्डे से होगा 750 बसों का संचालन.

महिलाओं के लिए 50 पिंक बसें भी चलेंगी.

यात्रियों की सुविधा के लिए एसी वेटिंग हॉल.

ठहरने के लिए 125 कमरे का लग्जरी होटल, 6 स्क्रीन का सिनेमाहाल, शॉपिंग मॉल.

3 एकड़ में बने हैं 50 प्लेटफार्म,

50 बसों की अंडरग्राउंड पार्किंग की सुविधा.

5 टिकट काउंटर, 2 काउंटर एमएसटी के लिए.

2 वॉटर प्यूरीफायर मशीनें, स्टॉफ के लिए 100 बेड के ड्रारमेट्री.


परिवाहन विभाग के कमिश्नर पी गुरूप्रसाद ने बताया कि यात्रियों की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए परिवहन निगम ने आलमबाग बस अड्डे को अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस किया है. यात्रियों को यहां पर बैंक की सुविधा के साथ ही यूपी टूरिज्म की जानकारी देने वाला कार्यालय भी बनाया गया है. खास बात यह है कि यहां पर बाहर से आने वाले यात्रियों को ठहरने की सुविधा मिलेगी. बस अड्डे में ऊपर की तरफ होटल भी संचालित किया जाएगा.