उन्नाव रेप केस की सिलसिलेवार जांच कर रही सीबीआई सोमवार को उन्नाव की तत्कालीन एसपी नेहा पांडे से भी पूछताछ करके उनका बयान दर्ज करेगी. पीड़िता के मुताबिक उसकी शिकायत के बावजूद एसपी नेता पांडे ने कोई कार्रवाई नहीं की थी. पीड़ित किशोरी के पिता की हत्या और उन्हें फर्जी मुकदमे में जेल भेजने के मामले में जांच एजेंसी जल्द आरोप पत्र कोर्ट में दाखिल करने की भी तैयारी में है. फिलहाल नेहा पांडे प्रतिनियुक्ति के तहत दिल्ली में तैनात हैं.


बता दें कि सीबीआई फर्जी तरीके से तमंचे की बरामदगी दिखाकर पीड़ित किशोरी के पिता को जेल भेजने के पांच आरोपितों से पूछताछ कर रही है. सीबीआई जांच के दौरान अब तक आरोपित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर सहित कई आरोपितों को एक-दूसरे से आमना-सामना भी करा चुकी है. आरोपितों के बयानों के आधार पर सीबीआई साक्ष्यों का संकलन कर रही है.


सूत्रों का दावा है कि सेंगर ने भाई के खिलाफ मुकदमा दर्ज न करने के लिए एसपी पर दबाव बनाया, जिसका असर भी देखने को मिला और पुलिस ने पीड़िता के पिता को ही जेल भेज दिया. इतना ही नहीं, जब परिवार वाले मुकदमा लिखाने गए तो उन्हें भगा दिया गया. बाद में जिलाधिकारी और लखनऊ के अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद मुकदमा दर्ज किया गया, लेकिन इसमें विधायक के भाई का नाम दर्ज नहीं किया गया. एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट में भी इस बात का जिक्र किया है.