पेट पर जमी चर्बी घटाने की कोशिशों में जुटे लोगों के लिए अच्छी खबर है। वैज्ञानिकों ने एक नई खोज की है जिसके तहत कार्बन डाइऑक्साइड गैस से भरे हुए फैट पॉकेट का इंजेक्शन लगाने से पेट पर जमा चर्बी कम हो सकती है। नॉर्थवेस्टर्न यूनिवर्सिटी के मुराद आलम ने कहा, 'कार्बोक्सिथेरपी सशक्त रूप से फैट में कटौती करने का एक नया और असरदार तरीका है। हालांकि इसे और ज्यादा अनुकूल बनाने की जरूरत है और इसलिए यह लंबे समय तक चलने वाला है।' 

कार्बन डाइऑक्साइड सुरक्षित और सस्ती गैस है 

जर्नल ऑफ द अमेरिकन अकैडमी ऑफ डर्मैटॉल्जी में प्रकाशित इस स्टडी के लीड ऑथर मुराद आलम ने कहा, 'इस नई तकनीक का फायदा यह है कि यह एक सुरक्षित और सस्ती गैस है और इसे शरीर के फैट पॉकेट में इंजेक्ट करना उन मरीजों को पसंद आ सकता है जो नैचरल ट्रीटमेंट को वरियता देते हैं।' किस तरह से कार्बोक्सिथेरपी काम करता है इसे अब तक सही तरीके से समझा नहीं गया है। ऐसा माना जाता है कि कार्बन डाइऑक्साइड का इंजेक्शन शरीर में माइक्रोसर्क्युलेशन में बदलाव लाता है और फैट सेल्स को नुकसान पहुंचाता है। 

5 हफ्तों बाद सतही फैट में आयी कमी 

इस स्टडी में 16 वयस्कों को शामिल किया गया ता जो ओवरवेट नहीं थे और जिन्हें बेतरतीब ढंग से चुना गया था ताकि वे अपने पेट के एक तरफ हर सप्ताह कार्बन डाइऑक्साइड का इंजेक्शन ले सकें और पेट के दूसरी तरफ हर हफ्ते एक दिखावटी ट्रीटमेंट। 5 सप्ताह बाद किए गए हाई-रेजॉलूशन अल्ट्रासाउंड में यह बात सामने आयी कि इन लोगों के शरीर में सतही (superficial) फैट में कमी आयी है। हालांकि इस स्टडी के दौरान इन लोगों के बॉडी वेट में कोई बदलाव नहीं हुआ।