भोपाल । पिपलानी इलाके में जेके रोड के पास एसबीआई के एटीएम से पौने 14 लाख की रकम की चोरी का मामला सामने आया है। चोरी बाकायदा एटीएम का पासवर्ड को तोड़कर की गई है। आरोपित सीसीटीवी कैमरों का डीवीआर भी निकालकर ले गए ताकि पुलिस को फुटेज नहीं मिल पाए। पुलिस ने एटीएम की देखरेख करने वाली कंपनी के क्षेत्रीय प्रबंधक की शिकायत पर एफआईआर दर्ज कर ली है। एटीएम में नकदी अपलोड करने वाली कंपनी लॉजीकैश के दो कर्मचारियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।


पिपलानी टीआई राकेश श्रीवास्तव के अनुसार जेके रोड पर वाइन शॉप के पास एसबीआई का एटीएम है। जहां पर सोमवार की रात कुछ अज्ञात आरोपितों ने एटीएम में घुसकर 13 लाख 80 हजार चुरा लिए। आरोपितों ने वारदात से पहले एटीएम के बूथ के अंदर के तार काट दिए, जिससे सीसीटीवी फुटेज में किसी का चेहरा नहीं आए।


टीआई का कहना है कि एटीएम से रकम निकालने के लिए बाकायदा उसके दोनों पासवर्ड डाले गए। इसके बाद बॉक्स खुला और उसमें से रकम को निकाला गया। इस मामले में कैश लोड करने वाली कंपनी के कर्मचारी शामिल हो सकते हैं। जिस एटीएम से रकम चोरी की गई है, उसमें 24 घंटे पहले ही नकद रकम भरी गई थी।


कैश लोड करने वाली कंपनी के कर्मचारियों से पूछताछः टीआई ने बताया कि एटीएम की मेंटेनेंस करने वाली कंपनी एफएसएस के क्षेत्रीय प्रबंधक मुकेश मालवीय की शिकायत पर अज्ञात आरोपितों के खिलाफ चोरी का मामला दर्ज किया गया है। एटीएम में कैश अपलोड करने वाली कंपनी लॉजीकैश कंपनी के कुछ कर्मचारियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।


लगातार पकड़ा रहे कर्मचारी -


बता दें कि एसबीआई के एटीएम में अपलोड करने वाली कंपनी लॉजीकैश के कर्मचारी लगातार एटीएम की रकम भरने के दौरान हेराफेरी में पकड़े जा रहे हैं। कंपनी के आधा दर्जन कर्मचारियों को बागसेवनिया पुलिस ने 84 लाख की हेराफेरी में गिरफ्तार किया गया था।