आध्यात्मिक गुरु भय्यूजी महाराज का इंदौर में अंतिम संस्कार किया जाएगा. इससे पहले उनका पार्थिव शरीर इंदौर में उनके आश्रम पर अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है. उनके अंतिम दर्शन के लिए लोगों का हुजूम उमड़ा है. इसके बाद विजय नगर स्थित सयाजी मुक्ति धाम पर अंतिम संस्कार होगा.


भय्यूजी महाराज के अंतिम दर्शन के लिए प्रदेश सहित पूरे देश से VVIP's और नेताओं के पहुंचने की उम्मीद है. इसे देखते हुए इंदौर पुलिस ने भय्यूजी महाराज के आश्रम के आसपास सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है.


बता दें कि संत और आध्यात्मिक गुरु भय्यूजी महाराज ने मंगलवार को अपने खंडवा रोड स्थित आवास पर खुद को अपने पिस्टल से गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी. हालांकि फौरन उन्हें हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.


भय्यूजी महाराज ने सुसाइड नोट में आत्महत्या का कारण तनाव बताया है. पुलिस ने सुसाइड नोट बरामद करने के साथ उनकी पिस्टल जब्त कर ली है. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित कई नेताओं ने भय्यूजी महाराज के निधन पर शोक जताया है. वहीं, कांग्रेस ने आत्महत्या मामले की सीबीआई से जांच की मांग की है.घटनास्थल से पिस्टल बरामद, जांच शुरू

घटनास्थल से पुलिस ने एक और पिस्टल बरामद की है. भय्यू महाराज के परिजनों ने इस पिस्टल को लाइसेंसी बताया है, हालांकि अभी पुलिस यह जांच कर रही है कि यह पिस्टल लाइसेंसी है भी अथवा नहीं और यदि यह लाइसेंसी है तो इसका किसके नाम पर है.