नई दिल्ली ईरान में 24 जुलाई से 4 अगस्त के बीच एशियन नेशन्स कप चेस चैंपियनशिप होनी है। इस टूर्नामेंट में एशियन टीमें हिस्सा लेंगी, लेकिन भारत की स्टार चेस खिलाड़ी सौम्या स्वामीनाथन ने इस टूर्नामेंट से नाम वापस ले लिया है। दरअसल ये टूर्नामेंट ईरान में खेला जाना है और वहां सभी महिला खिलाड़ियों के लिए सिर ढकना (हिजाब या बुर्खा) अनिवार्य है।


सौम्या ने हिजाब लगाने से मना कर दिया और इसी वजह से उन्होंने इस टूर्नामेंट से अपना नाम भी वापस ले लिया। सौम्या ने इसे मानव अधिकारों को हनन बताया है। सौम्या ने फेसबुक पर अपनी पोस्ट में लिखा, 'मैं समझ सकती हूं कि आयोजक चाहते हैं कि खिलाड़ी किसी भी चैम्पियनशिप में अपने देश की औपचारिक यूनिफॉर्म के साथ ही देश का प्रतिनिधित्व करें, लेकिन इस तरह से किसी धर्म से जुड़ी पोशाक को जबरदस्ती पहनाने का कोई नियम नहीं है।'

सौम्या से पहले भारतीय शूटर हीना सिद्घू ने 2016 में ऐसा ही कुछ किया था, उन्होंने एशियन एयरगन शूटिंग चैम्पियनशिप से अपना नाम वापस ले लिया था।