जम्मू के सांबा सेक्टर के रामगढ़ में पाकिस्तान की ओर से मंगलवार रात को सीमा पर फायरिंग में

राजस्थान के तीन सपूत शहीद हुए हैं. पाकिस्तान ने संघर्षविराम का उल्लंघन करते हुए रात करीब

10.30 बजे अन्तरराष्ट्रीय सीमा पर फायरिंग शुरू की थी जिसमें राजस्थान के सपूतों के साथ उत्तर

प्रदेश का एक सपूत भी शहीद हुआ है. बीएसएफ के इन 4 जवानों की शहादत के साथ ही 3 अन्यजवान जख्मी भी हुए हैं. जख्मी जवानों को जम्मू के सतवारी स्थित आर्मी अस्पताल में भर्ती किया

गया है.


सीकर के एएसआई रामनिवास, भरतपुर के मूलनिवासी जितेंद्र सिंह और अलवर के कांस्टेबल अलवर हंसराज शहीद हुए हैं. इन सपूतों की शहादत की खबर के बाद तीनों शहीद परिवारों के यहां लोगों का पहुंचना जारी है. शहीदों के परिवारों को सांत्वना और ढाढ़स बंधाने लोग पहुंच रहे हैं.


जम्मू में पाकिस्तान की ओर से हुई गोलीबारी में शहीद हुए बीएसएफ के जवान जितेंद्र चौधरी भरतपुर के सलेमपुर गांव का निवासी था और फिलहाल उनका परिवार जयपुर में रह रहा था. जयपुर के रजत पथ पर जितेंद्र के घर पर उनके परिचित और रिश्तेदार पहुंच रहे हैं.


उधर, पाकिस्तान की ओर से की गई फायरिंग में प्रदेश के तीन जवानों के साथ यूपी निवासी सब-इंस्पेक्टर रजनीश कुमार भी शहीद हुए हैं. इस घटनाक्रम पर जम्मू-कश्मीर के उपमुख्यमंत्री कवीन्द्र गुप्ता ने कहा है कि पाकिस्तान ऐसे हमले करता रहा है. यह चिंता का विषय है. हमारी सेना ऐसे हमला का जवाब देती है. शहीद हुए जवानों को मेरी श्रद्धांजलि.