जयपुर। जयपुर के सबसे बड़े सरकारी सवाई मानसिंह अस्पताल के दूसरी मंजिल पर स्थित सीटी सर्जरी विभाग के आॅपरेशन थिएटर के स्टोर में बुधवार सुबह करीब 5 बजे भीषण आग लग गई।


अचानक भरे धुंऐ से आईसीयू और वार्डों में भर्ती मरीज ओर उनके परिजनों की हालत खराब हो गई। स्टोर में आग लगने की जानकारी मिलते ही पूरे बांगड परिसर में भर्ती मरीजों में हडकंप मच गया। सेमी आईसीयू की आॅक्सीजन लाइन चालू नहीं थी तो दूसरी ओर मरीजों को दूसरी जगह ले जाने के लिए स्ट्रेचर तक नहीं मिले और परिजन उन्हें गोद में उठा कर ले गए।


तीन घंटे तक पूरे बांगड परिसर में अफरा तफरी का माहौल रहा। आग लगने का कारण शाॅर्ट सर्किट बताया जा रहा है।


सीटी सर्जरी आॅपरेशन थिएटर के पास स्टोर धूं धू करके जलने लगा और धुंआ सबसे पहले थिएटर के पास बने 12 बेड के सीटी सर्जरी आईसीयू में भरा। मरीजों में चीख पुकार मची तो परिजन मरीजों को उठाकर बाहर भागे।


नर्सिंग कर्मियों ने आईसीयू के मरीजों को सीटी सर्जरी वार्ड के सेमी आईसीयू में शिफ्ट किया। नर्सिंग कर्मियों ने आईसीयू से मरीजों को निकाल कर वार्ड के सेमी आईसीयू में भर्ती तो कर दिया लेकिन जो मरीज आईसीयू में आॅक्सीजन पर थे उनको वहां कुछ ही देर में तकलीफ होने लगी लेकिन वहां आॅक्सीजन की कोई व्यवस्था नहीं थी। अफरा तफरी मची तो पता चला कि सेमी आईसीयू में आॅक्सीजन लाइन बंद थी।


आनन-फानन में एक दर्जन आॅक्सीजन सिलेंडर मंगा कर आॅक्सीजन सप्लाई शुरू की गई तब जाकर मरीजों की जान में जान आई। अस्पताल प्रशासन के अधिकारियेां ने मरीजो को यह तो बताया कि वैकल्पिक व्यववस्था डे केयर सेंटर में कर दी गई है लेकिन मरीजों को वहां शिफ्ट करने के लिए न तो स्ट्रेचर दिए गए और न ही व्हील चेयर। परिजन मरीजों को गोद में लेकर भागते रहे।