भोपाल। दिल्ली से जबलपुर जा रहे जूम एयर के विमान में अचानक तकनीकी खराबी आ गई। करीब 20 हजार फीट की ऊंचाई पर विमान का फ्यूल प्वाइंट लीक होने लगा था। विमान भोपाल एयर ट्रैफिक क्षेत्र से गुजर रहा था, उसी समय विमान के इंजन से असामान्य आवाज आने लगी। मामले की गंभीरता को देखते हुए पायलट ने भोपाल में इमरजेंसी लैंडिंग की अनुमति मांगी। एटीसी ने तत्काल सुरक्षित लैंडिंग के प्रबंध कराए।


जूम एयर की यह उड़ान सुबह करीब 9 बजे दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से 48 यात्रियों को लेकर जबलपुर के लिए टेकऑफ हुई थी। टेकऑफ के कुछ समय बाद ही विमान के इंजन से तेज आवाज आने लगी। बताया जाता है कि विमान का फ्यूल प्वाइंट लीक हो रहा था और एयर ब्रेक भी काम नहीं कर रहे थे। पायलट ने तत्काल भोपाल एयर ट्रैफिक कंट्रोल रूम से संपर्क किया। एटीसी ने फायर अमले की मौजूदगी में इमरजेंसी लैंडिंग का प्रबंध कराया। विमान सुबह 10 बजे राजा भोज एयरपोर्ट पर लैंड हुआ।


20 हजार फीट ऊंचाई पर सहमे यात्री


बताया जाता है कि जिस समय विमान में तकनीकी खराबी आई, उस समय विमान लगभग 20 हजार फीट की ऊंचाई पर था। यदि चालक दल सूझबूझ नहीं दिखाता तो बड़ा हादसा हो सकता था। मुख्य पायलट ने धीरेेे-धीरे


विमान को ग्राऊंड लेवल पर उतारा। विमान में 48 यात्री सवार थे। इमरजेंसी लैंडिंग की उद्घोषणा से यात्री सहम गए। लैंडिंग के बाद यात्रियों ने राहत की सांस ली।


नहीं हो सका सुधार, दूसरा विमान पहुंचा


राजा भोज एयरपोर्ट पर लैंडिंग के बाद विमान की खराबी को स्थानीय स्तर पर सुधारने का प्रयास किया गया लेकिन सफलता नहीं मिली। बाद में कंपनी ने दूसरे विमान की व्यवस्था की। यह विमान शाम 5.30 बजे यात्रियों को लेकर जबलपुर रवाना हुआ। इसी विमान से कंपनी के इंजीनियर भोपाल पहुुंचे। विमान की खराबी को सुधारने का देर रात तक प्रयास होता रहा।


इनका कहना है


जूम एयर के विमान में तकनीकी खराबी आ गई थी। सूचना मिलने पर हमने इमरजेंसी लैडिंग के प्रबंध किए। सभी यात्री सुरक्षित हैं। खराबी क्या थी, इसकी जानकारी मुझे नहीं है। यात्रियों को दूसरे विमान से रवाना किया गया है - राकेश बाहेरी, उपमहाप्रबंधक एयरपोर्ट अथारिटी