मंहगाई के जमाने में सैलरी कम होती जा रही है और खर्चे बढ़ते जा रहे हैं, भविष्य को सुरक्षित कुछ बच नहीं पाता। जब आपका अकाउंट खाली होने की कगार पर आता है तो आगे के दिन कैसे चलेंगे, इसी बात की चिंता करते हैं। लेकिन क्या आपको पता है हमारे धर्मों और शास्त्रों में भी धन प्राप्ति के कई उपाय बताए गए हैं। अगर धन प्राप्ति की चाहत है तो हर दिन राशि के अनुसार इन मंत्रों का जाप करें। अगर आप इन मंत्रों के सहारे अपने इष्टदेव को प्रसन्न कर लें तो हमारी वित्तीय समस्याओं का अंत हो सकता है। अगर आप राशि के अनुसार हर दिन यह उपाय कर लेंगे तो जीवन में आपको कभी कोई आर्थिक कमी नहीं होगी…

मेष राशि का स्वामी मंगल ग्रह है और जातक के इष्टदेव हनुमान जी हैं। ऐसे में अगर आप हर रोज हनुमान मंदिर जाकर ओम हनुमते नम: का जाप करें तो आपकी यह आराधना आपके लिए काफी मददगार साबित होगी। आर्थिक और वित्तिय क्षेत्र में आपको लाभ होगा।

वृषभ राशि का स्वामी ग्रह शुक्र है और जातक का इष्टदेव मां दुर्गा हैं। हर रोज मां दुर्गा की पूजा और उनके मंत्र जाप करने से धन संबंधी सभी तरह की समस्याओं का अंत होगा। मंत्र है- ओम दुर्गादेव्यै नम:। इस मंत्र को एक माला जाप करें।

मिथुन राशि का स्वामी ग्रह बुध है और इष्टदेव भगवान गणेश। हर रोज एक माला आप ओम गं गणपते नमः का जाप करें। आपको सफलता अवश्य प्राप्त होगी। आपकी नौकरी और व्यवसाय में आ रही परेशानियों का अंत होगा।

कर्क राशि का स्वामी ग्रह चंद्रमा है और इष्टदेव भगवान शिवजी हैं। ज्योतिष के अनुसार, हर रोज आप ओम नमः शिवाय का जाप करेंगे तो जातक को धन संबंधित लाभ अवश्य प्राप्त होगा। भगवान शिव का जलाभिषेक जरूर करें।

सिंह राशि का स्वामी ग्रह सूर्य है और इष्टदेव भी सूर्य ही हैं। ऐसे में जातक हर रोज सूर्य देव को अर्घ्य जरूर दें। ऐसा करने से आपके जीवन में हमेशा सकारात्मक ऊर्जा बनी रहेगी। ओम सूर्यायें नमः का एक माला जाप अवश्य करें।

जिस जातक की राशि कन्या है उसका स्वामी ग्रह बुध है और इष्टदेवता भगवान गणेश हैं। हर रोज सुबह-शाम आप ओम गं गणपते नमः का जाप करें। आपकी धन संबंधित समस्या का जल्द अंत होगा।

तुला राशि का स्वामी ग्रह शुक्र है और इष्टदेव देवी लक्ष्मी। आप हर रोज माता लक्ष्मी की पूजा करें और एक माला ओम महालक्ष्म्यै नमः मंत्र का जाप करें। आपकी आर्थिक समस्याओं का अंत होगा, साथ ही घर में हमेशा खुशियों का निवास रहेगा।

वृश्चिक राशि के स्वामी ग्रह मंगल है और इष्टदेव हनुमानजी हैं। अगर आप हर रोज अपने इष्टदेव की आराधना करेंगे तो सभी समस्याएं खत्म हो जाएंगी। मंत्र है- ओम हनुमते नमः। इस मंत्र का 108 बार जाप करें।

धनु राशि के स्वामी ग्रह बृहस्पति है और इष्टदेव भगवान विष्णु। धनु राशि के जातक ओम श्री विष्णवे नमः मंत्र का 108 बार नित्य जाप करें। इससे आपको व्यवसाय और नौकरी में लाभ हो सकता है।

मकर राशि का स्वामी ग्रह शनि है और इष्टदेव भी शनिदेव हैं। इसलिए शनि या हनुमान जी की पूजा, इन जातकों के लिए शुभ रहती है। आप हर रोज ओम शम् शनिश्चराये नम: मंत्र का 108 बार जाप करें। इससे सभी बाधाएं दूर कर सुख-शांति मिलेगी।

मकर राशि का स्वामी ग्रह शनि है और इष्टदेव भी शनिदेव हैं। इसलिए शनि या हनुमान जी की पूजा, इन जातकों के लिए शुभ रहती है। आप हर रोज ओम शम् शनिश्चराये नम: मंत्र का 108 बार जाप करें। इससे सभी बाधाएं दूर कर सुख-शांति मिलेगी।

मकर राशि का स्वामी ग्रह शनि है और इष्टदेव भी शनिदेव हैं। इसलिए शनि या हनुमान जी की पूजा, इन जातकों के लिए शुभ रहती है। आप हर रोज ओम शम् शनिश्चराये नम: मंत्र का 108 बार जाप करें। इससे सभी बाधाएं दूर कर सुख-शांति मिलेगी।