खंडवा जिले के नर्मदानगर थाना इलाके में रहने वाली दुष्कर्म पीड़िता नाबालिग का सोमवार को गर्भपात करवाया गया. जबलपुर हाईकोर्ट द्वारा गर्भपात कराए जाने के फैसले के बाद सोमवार को दुष्कर्म पीड़िता नाबालिक को खंडवा जिला अस्पताल में महिला चिकित्सकों की टीम द्वारा सुरक्षित तरीके से गर्भपात कराया गया.


मामला खंडवा जिले के नर्मदानगर का है, जहा शादी का झांसा देकर नदीन नामक शख्स ने नाबालिक से दुष्कर्म किया था. नाबालिग के गर्भ ठहरने के बाद आरोपी युवक फरार हो गया था. मामले में नाबिलग दुष्कर्म पीड़िता व परिजनों के द्वारा नर्मदानगर थाने में शिकायत करने पर आरोपी युवक नदीम को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया.


नाबालिग पीड़िता के करीब दो माह का गर्भ ठहरने के बाद खंडवा न्यायालय में गर्भपात के लिए आवेधन किया गया, लेकिन इसे खारिज कर दिया. आखिरकार नाबालिग युवती को हाईकोर्ट की शरण लेनी पड़ी, जहां कोर्ट ने जांच के बाद 7 जून को नाबालिग को गर्भपात की अनुमति देते हुए 18 जून को गर्भपात कराने का समय तय किया. खंडवा के इतिहास में पहली बार हाईकोर्ट द्वारा इस तरह का फैसला दिया गया. कोर्ट के फैसले पर सोमवार को महिला चिकित्सकों की निगरानी में सुरक्षित गर्भपात करवाया गया है.