बाइक चोरी के एक आरोपी को पकड़ने के लिए गई कुचामन थाना पुलिस व क्यूआरटी पुलिस टीम पर आरोपी व उसके परिजनों ने पत्थरों से हमला कर दिया. पदमपुरा गांव स्थित बनबागरियो की ढाणियों में हुए इस हमले में पुलिस के साथ गए एक युवक चौथमल की मौत हो गई. पुलिस आरोपी बंशीलाल को पहचानने के लिए ले गई थी. इस घटना से दबिश देने गई और पुलिसकर्मी वहां से जान बचाकर भागी. इस हमले में कुचामन पुलिस का हेड कांस्टेबल छोटूराम और मृतक चौथमल के बड़े भाई सहित तीन लोग घायल हो गए.


घटना से घबराए पुलिसकर्मियों ने मामले की सूचना कुचामन थानाधिकारी को दी. थानाधिकारी ने मामले की जानकारी उच्चाधिकारियों को दी और पुलिस जाब्ता लेकर पदमपुरा स्थित बगबागरियो की ढाणी पहुंचे. जहां पुलिस ने तीन आरोपियों को पकड़ लिया और मृतक चौथमल के शव को कब्जे में लेकर कुचामन सिटी के राजकीय अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया. मामले में डीडवाना एएसपी सहित पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे हैं.


इस मामले को लेकर कुचामन सिटी थानाधिकारी यशपाल भल्ला ने बताया कि 18 जून की देर शाम को कुचामन क्यूआरटी की टीम ने बाईक चोर बंशीलाल को पकड़ने के लिए दबिश दी. चौथमल आरोपी बंशी को पहचानना था. इसके चलते पुलिस ने उसकी मदद ली. वहीं चौथमल  व बंशीलाल के बीच पुराना विवाद भी चल रहा था. चौथमल को साथ लेकर जैसे ही पुलिस टीम ने दबिश दी तो आरोपी बंशीलाल,  उसकी पत्नी व अन्य ने पत्थरों से हमला कर दिया. इस हमले में चौथमल की मौत हो गई. चौथमल का भाई बनवारी व हेड कांस्टेबल छोटूराम घायल हो गए.


थानाधिकारी ने बताया कि मामले में तीन आरोपियो को राऊडअप कर लिया गया है. युवक की मौत से किसी तरह का तनाव नहीं हो इसके लिये रात्रि में ही भारी पुलिस जाप्ता तैनात किया गया है. अन्य आरोपियो कि गिरफ्तारी के प्रयास जारी है. मृतक चौथमल के परिजनो ने आरोप लगाया कि आरोपी बंशी व चौथमल के बीच पुरानी रंजिश थी. दोनों में राजीनामा करवाने के बहाने पुलिस चौथमल को अपने साथ ले गई थी, जहां बंशी व अन्य ने पत्थरो से हमला कर चौथमल की हत्या कर दी गई.