राजस्थान के पाली स्थिति आश्रम में रेप के आरोपी दाती मदन महाराज को मीडिया के बीच किया गया दावा झूठा निकला है. खुद को बेगुनाह बताते हुए दाती मदन ने सोमवार को दिल्ली पुलिस के सामने हाजिर होने की बात कही थी लेकिन वो अपनी इस बात से मुकर गया. यह दावा झूठा निकला. दाती जगह वकील क्राइम ब्रांच पहुंचे और उनके जरिए और दाती ने 7 दिन का समय और मांगा. क्राइम ब्रांच ने अब बुधवार तक का समय दाती मदन को दिया है. तब तक वह हाजिर नहीं होता है तो उसके खिलाफ सर्च वारंट जारी किया जाएगा.


यौन दुराचार के आरोपी दाती मदन को दिल्ली क्राइम ब्रांच ने दो दिन का समय विशेषज्ञों से सलाह के बाद दिया है. इन दो दिनों में दाती मदन को पुलिस के समक्ष पेश होना ही होगा. यदि ऐसा नहीं होता है तो गिरफ्तारी के लिए धरपकड़ शुरू की जाएगी. इससे पहले शिष्या से रेप के आरोपों में फंसे दाती मदन महाराज ने दिल्ली क्राइम ब्रांच से 7 दिन का समय मांगा था. दाती ने कहा है कि वह भगोड़ा नहीं, भक्त है और उन्हें बालिकाओं के रहने-खाने-पीने की व्यवस्था के लिए कुछ समय चाहिए, इसीलिए उन्होंने आश्रम छोड़ा है.


पिछले सप्ताह क्राइम ब्रांच की टीम शनिवार को राजस्थान के पाली स्थित दाती आलावास स्थित आश्रम पर छापा मार चुकी है. टीम के साथ तब पीड़िता भी मौजूद थी. पीड़िता की निशानदेही पर टीम ने मौका तस्दीक करते हुए आश्रम से कुछ अहम सबूत भी जुटाए बताए हैं. क्राइम ब्रांच को आश्रम में दाती के नहीं मिलने पर पुलिस ने नोटिस जारी कर सोमवार तक पेश होने को कहा था.