अमरनाथ यात्रा से पहले खुफिया रिपोर्ट मिली है कि आतंकी अमरनाथ यात्रा रूट पर फिदायीन हमला कर सकते हैं. आतंकियों की किसी भी हिमाकत का जवाब देने के लिए श्रीनगर में NSG के ब्लैक कैट कमांडो तैनात किए गए हैं. ये कमांडो किसी भी स्‍थ‍िति से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं. साथ ही एयरपोर्ट की सुरक्षा भी इन कमांडो के जिम्‍मे ही है. बता दें, फिलहाल कश्‍मीर में ऑपरेशन ऑल आउट जारी है. इस बौखलाहट में आतंकी अमरनाथ यात्रा को निशाना बना सकते हैं.

खुफिया रिपोर्ट के बाद श्रीनगर में तैनात किए गए NSG कमांडो को किसी भी अप्रिय स्‍थ‍ित‍ि से निपटने की खास ट्रेनिंग दी गई है. NSG की टीम में दूर से मार करने वाले स्नाइपर के अलावा क्‍लोज कॉम्बैट टीम के जवान भी शामिल हैं. ये सभी जवान अत्‍याध‍ुनिक हथ‍ियारों से लैस हैं. बता दें, अमरनाथ यात्रा 29 जून से शुरू होगी.

इसके अलावा अमरनाथ यात्रा के मद्देनजर सुरक्षा एजेंसियों ने ये भी अहम फैसला लिया है कि पिछले साल के मुकाबले इस साल 17 फीसदी ज्यादा सुरक्षा बलों की तादाद बढ़ाई जा रही है. पिछले साल 204 कंपनियां सुरक्षा बलों की थी उन्हें 2018 में बढ़ाकर 238 कंपनियां कर दिया गया है. इस साल एसपी स्तर के अधिकारियों द्वारा अर्धसैनिक बलों के कंपनियों की अगुवाई की जाएगी. 1364 हेल्पलाइन नंबर होगा. ये लोगों की मदद के लिए बनाई गई है. आरएफ आईडी कार्ड वाहनों में लगा होगा जिससे वाहनों की सुरक्षा सुनिश्चित की जाएगी. अमरनाथ यात्रा के संवेदनशील जगहों पर ड्रोन कैमरों से नजर रखी जाएगी.

बता दें कि घाटी में इस समय कुल करीब 205 आतंकी मौजूद हैं. अमरनाथ यात्रा साउथ कश्मीर के उस एरिया से निकलती है, जहां इस समय सबसे ज्यादा आतंकियों की संख्या है. सूत्रों के मुताबिक, घाटी में आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन तेज होने की बौखलाहट में लश्कर और जैश के आतंकी साथ मिलकर अमरनाथ यात्रियों पर हमला करने की फ़िराक में हैं. घाटी में इस समय 102 हिजबुल मुजाहिद्दीन के लोकल आतंकी के साथ-साथ 47 लश्कर और 11 जैश के लोकल आतंकी मौजूद हैं. जो कश्मीर के जंगलों में ट्रेनिंग लेकर यात्रा पर हमला करने की कोशिश कर सकते हैं.

जम्मू- कश्मीर में 450 आतंकी घुसपैठ की तैयारी में हैं. यह खुलासा खुफिया रिपोर्ट में हुआ है. रिपोर्ट के मुताबिक, कश्मीर में तबाही मचाने के लिए पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने लश्कर और जैश-ए-मोहम्मद के 450 आतंकियों को 'पीओके' के लॉन्च पैड पर इकट्ठा किया है. सूत्रों के मुताबिक, घुसपैठ के लिए 11 नए लॉन्च पैड भी सक्रिय किए गए हैं.