कोटा में अनंतपुरा थाना इलाके में बडौदा बैंक के कैशियर से तीन पूर्व हुई 8 लाख रुपए की लूट का पुलिस ने शुक्रवार को पर्दाफाश करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. आरोपियों में लूट का मास्टरमांइड बैंक का संविदाकर्मी देवप्रकाश और उसके दो साथी राहुल और अरुण शामिल हैं.


पुलिस उपाधीक्षक नरसीलाल मीणा ने बताया कि 19 जून को हुई लूट के मामले में विशेष टीमें गठित गई थी. टीमों ने घटनास्थल, बैंक और उसके आसपास के क्षेत्र से कई महत्वपूर्ण सबूत जुटाते हुए संदिग्धों के बारे में जानकारी जुटाई तो पूरे घटनाक्रम में बैंक के संविदाकर्मी देवप्रकाश की भूमिका संदिग्ध लगी. इसको देखते हुए उससे कड़ी पूछताछ की गई तो उसने अपने साथियों के साथ मिलकर वारदात को अंजाम देना स्वीकार कर लिया.


लूट की रकम बरामद


पुलिस ने पूछताछ के बाद वारदात में इस्तेमाल किए गए एक्टिवा स्कूटर के साथ लूटी गए आठ लाख रुपए की रकम को भी बरामद कर लिया है. इसमें चार लाख रुपए देवप्रकाश, दो लाख रुपए राहुल और दो लाख रुपए अरुण से बरामद हुए हैं. आरोपी देवप्रकाश वर्ष 2013-14 से संविदा पर बैंक में काम कर रहा था. बैंक से जुड़ी हर छोटी बड़ी जानकारी का फायदा उठाकर उसने इस वारदात को अंजाम देने की योजना तैयार की. फिलहाल पुलिस आरोपियों के पुराने रिकॉर्ड खंगालने में जुटी है.