ऐसे मच्छर बनाए जाएंगे जो मादा मच्छरों से सेक्स करेंगे और दोनों मारे जाएंगे. माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स ने ऐसे मच्छर तैयार करने के लिए एक प्रोजेक्ट को 27 करोड़ रुपये देने का फैसला किया है ताकि मलेरिया फैलाने वाले मच्छर हमेशा के लिए खत्म हो सकें.

उम्मीद है कि ऑक्सीटेक के ऐसे किलर सेक्स मच्छर 2020 के अंत तक ट्रायल के लिए तैयार हो जाएंगे.जानलेवा मलेरिया बीमारी संक्रमित मच्छर के काटने से फैलती है. मलेरिया को खत्म करने के लिए यह एक बड़ा कदम बताया जा रहा है. बिल एंड मिलिंडा फाउंडेशन की ओर से गेट्स ये फंड देंगे. उम्मीद है कि एक जनरेशन के भीतर ही मलेरिया बीमारी का इससे खात्मा किया जा सकेगा.

योजना ये है कि जीन में बदलाव करके नए नर मच्छर तैयार किए जाएंगे. सिर्फ मादा मच्छर ही काटते हैं, ऐसे में जीन परिवर्तित नर मच्छर इंसानों के लिए सुरक्षित होंगे.

नए मच्छर में ऐसे जीन होंगे जो सीमित समय में मच्छरों को खत्म कर देंगे. 

अगर मादा मच्छर, मच्छरों को जन्म भी देती है तो जीन की वजह से वयस्क होने से पहले ही पैदा हुए मच्छर मारे जाएंगे. आपको बता दें कि मच्छर वयस्क होने पर ही इंसानों को काटते हैं

इंग्लैंड की कंपनी ऑक्सीटेक मच्छरों को तैयार करेगी जिसे फ्रेंडली मच्छर नाम दिया गया है. 

ऑक्सीटेक ने इससे पहले जीका वायरस के खिलाफ भी जीन-इंजीनियर्ड मच्छर तैयार किए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, इसकी वजह से कुछ क्षेत्रों में जीका वायरस फैलाने वाले मच्छरों की संख्या 90 फीसदी तक घट गई है. 

हालांकि, मलेरिया फैलाने वाले मच्छरों को खत्म करने के लिए नए सिरे से जीन में बदलाव की जरूरत है. हालांकि, फ्रेंड्स ऑफ अर्थ नाम की चैरिटी संस्था ऑक्सीटेक के ऐसे प्रयासों की आलोचना करती है.