मां का रिश्ता दुनिया का सबसे प्यारा और अनमोल रिश्ता हैं। पूरी दुनिया में मां की जगह कोई नहीं ले सकता है क्योंकि हमारे बिना बोले ही जो सब कुछ समझ जाता है वो मां है। कहते है कि दुनिया में सभी माएं एक जैसी होती है लेकिन अगर ध्यान से नजर डाली जाए तो हमारी देसी माएं दूसरों से कुछ अलग होती हैं। जी हां, आज हम आपको भारतीय माओं के उन्हीं गुणों के बारे में बताएं, जो बाकी देश की मांओं में शायद ही देखने को मिलते हो। 


1. पक्की निशानेबाज

हमारी भारतीय मांएं चप्पल से निशाना लगाने में काफी माहिर होती हैं। चप्पल उठाकर इतना सही निशाना लगाकर मारती है कि यदि यह किसी ओलंपिक्स खेल में हिस्सा लेती तो यकीन मानिए मेडल यही अपने नाम करती। 


 


2. जांच-पड़ताल करनेवाली

भारतीय माएं जांच-पड़ताल करने में इतनी माहिर होती है, जिसे देखकर लगता है कि शायद पिछले जन्म में ये कोई एफ़बीआई एजेंट ही रही होगी। हर बात को लेकर इतने सवाल-जवाब की हम जवाब देते-देते थक जाते है, लेकिन ये है कि सवालों की झड़ी लगाकर रख देती हैं। 


 


3. मोल-भाव में मास्टर

मोल-भाव जीत हासिल करना तो मानों इनका जन्म सिद्ध अधिकार हैं। कोई सब्जी वाला हो या सूट बेचने वाला, मोल-भाव करने में कोई मौका नहीं छोड़ती। मोल-भाव की जीत इनके चेहरे पर अलग ही मुस्कान ला देती है। 


 


4. नौटंकीबाज

नौटंकीबाज का यह मतलब नहीं कि यह हर बात पर नौटंकी दिखाने लगती है। बस कई बार अपने बच्चों से कहना मनवाने के लिए यह चेहरे पर ऐसे हाव-भाव ले आती है कि बच्चों को इनके आगे झुकना ही पड़ जाता है। अपने इमोशनल रवैए से यह बड़ी-बड़ी अदाकाराओं को भी पीछे छोड़ देती है। 


 


5. सलाहकार

भारतीय मांओं बड़ी अच्छी सलाहकार होती है। बस इनके अंदर का सलाहकार तभी आराम करता है, जब वह सो रही होती है। नहीं तो यह कभी भी किसी भी टाइम आपको फ्री की सलाह देती नजर आ जाएगी। 


 


6. शालीनता

शालीनता तो मानों भारतीय माओं में कुट-कुट कर भरी होती हैं। अपने बच्चे को किसी भी राजकुमारी की तरह इस तरह बाहों में भर लेती है कि दिल करता है कि यह पल सब यही ठहर जाए। 


 


7. गुस्सा

भारतीय मांओं के गुस्से से तो भगवान ही बचाए...। वैसे तो भारतीय महिलाएं जल्दी से पंगा नहीं लेती लेकिन जब बात इनके बच्चे पर आ जाती है तो यह किसी की नहीं सुनती।