अंबिकापुर। सिंगरौली से सीपत तक एस्सार कंपनी द्वारा बिछाए जा रहे टॉवर लाइन के लिए अधिग्रहित जमीन के एवज में मुआवजा वितरण में मनमानी का आरोप लगा है। बिहारपुर से लगे ठाढ़पाठर के किसान रामकृपाल गुर्जर (50) का आरोप है कि उसकी जमीन पर लगे महुआ के 9 पेड़ काट दिए गए। इसका मुआवजा भी नहीं दिया गया। इसके विरोध में वह कई फीट ऊंचे टॉवर पर चढ़ गया।


किसान का कहना है कि जमीन के मुआवजा में भी नियमों का पालन न कर कम मुआवजा दिया गया। किसान शनिवार दोपहर 2 बजे टावर पर चढ़ा था करीब 12 घंटे बाद रात 2 बजे पुलिसकर्मियों ने समझाइश देकर किसी तरह उसे नीचे उतारा। इसके बाद भी वह धरने पर बैठा रहा।


गौरतलब है कि टावर लाइन के मुआवजे को लेकर लंबे समय से विवाद चल रहा है। पिछले दिनों विधायक पारसनाथ राजवाड़े के नेतृत्व में ग्रामीणों ने एस्सार कंपनी पर मनमानी का आरोप लगा चक्काजाम किया था। प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा उचित मुआवजा दलिवाने के आश्वासन पर आंदोलन समाप्त हुआ था लेकिन अभी भी जनभावनाओं के अनुरूप पहल नहीं किये जाने का आरोप लग रहा है।