गांधीनगर,  गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने एक बार फिर आरक्षण की मांग के साथ आंदोलन करने का ऐलान किया है. सिर्फ आंदोलन ही नहीं, हार्दिक ने इस बार अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठने की भी घोषणा की है.


हार्दिक पटेल ने दावा किया है कि वह पाटीदारों को आरक्षण के लिए भूख हड़ताल करेंगे और यह आरक्षण मिल जाने के बाद ही खत्म होगी.


फेसबुक पर की घोषणा


हार्दिक पटेल ने रविवार फेसबुक लाइव के जरिए ये घोषणा की है. फेसबुक लाइव पर लोगों के सवालों को जवाब देते हुए हार्दिक ने भूख हड़ताल करने की बात कही.


हार्दिक ने कहा कि अब 'आर या पार' की लड़ाई का वक्त आ ग या है. उन्होंने कहा कि पाटीदारों को आरक्षण, बेरोजगारी और किसानों की समस्या उनकी प्राथमिकताएं हैं.


'जान जाएगी या आरक्षण मिलेगा'


हार्दिक ने अपने बयान में काफी सख्त नजर आए, उन्होंने यहां तक कह डाला कि या तो पाटीदारों को आरक्षण की व्यवस्था होगी या उनकी जान जाएगी.


हार्दिक ने अपने फेसबुक लाइव में शराब बंदी और अपनी सेक्स सीडी पर भी खुलकर जवाब दिया. साथ ही उन्होंने ये भी स्पष्ट कर दिया कि वो कभी किसी राजनीतिक दल को ज्वाइन नहीं करेंगे.


गौरतलब है कि 25 अगस्त को पाटीदार क्रांति रैली के तीन साल पूरे हो रहे हैं. तीन साल पहले जब पहली बार पाटीदार समाज आरक्षण की मांग के साथ सड़कों पर उतरा था, तो उनके खिलाफ पुलिस प्रशासन ने बंदूकों और लाठियों का जमकर इस्तेमाल किया था. जिसमें 9 लोगों की मौत हुई थी. इस आंदोलन के बाद बड़ी संख्या में पाटीदार समर्थकों के खिलाफ केस दर्ज किए गए थे. जिससे गुस्साए पाटीदारों ने 2017 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी की जमकर मुखालफत की थी. अब एक बार हार्दिक पेटल के नेतृत्व में पाटीदार समुदाय अपनी वर्षों पुरानी मांग को लेकर आंदोलन के मूड में है.