आज के समय में व्यक्ति का मकसद पैसा कमाना ही रह गया है। वो चाहता है कि उसके पास खुद का आशियाना हो, एक शानदार गाड़ी हो और जब वो इस काबिल बन जाता है कि खुद का घर खरीद सके तब बात आती है ज़मीन खरीदने की। वैसे तो आजकल हर कोई बने हुए फ्लैट्स ही खरीदना पसंद करता है लेकिन फिर भी कुछ लोग हैं जो ज़मीन खरीदकर अपने तरीके से घर बनवाते हैं। कई बार ऐसा होता है कि नए घर में अचानक से परेशानियां आने लगती हैं। इसका कारण घर में वास्तु दोष का होना है। इसलिए ज़मीन खरीदते समय कुछ खास बातों का ध्यान रखना ज़रूरी है। 

वास्तु शास्त्र के अनुसार कब्रिस्तान या उसके आसपास की जगह पर घर बनाना बिल्कुल भी सही नहीं होता है। ऐसी जगह घर बनवाने से वास्तु दोष उत्पन्न होता है, इसके कारण घर-परिवार पर संकट आता है। यही नहीं इससे घर के सदस्यों की अकाल मृत्यु का खतरा भी हो सकता है। 

अस्पताल या उसके आस-पास की जमीन भी वास्तु के अनुसार घर बनवाने योग्य नहीं होती। ऐसे वास्तु दोष के कारण अकारण बीमारियों का सामना करना पड़ सकता हैं। 

जिन लोगों को प्राकृतिक सुंदरता और शांति का माहौल पसंद होता है, वे आबादी से अलग अक्सर ऐसे इलाकों में घर बनाकर रहते हैं, जहां नदी और पहाड़ों का प्राकृतिक सौंदर्य देखने को मिले। लेकिन वास्तु के अनुसार नदी के आसपास वाली जमीन से भी वास्तु दोष पैदा होता है। ऐसे जगहों पर बने घर में नकारात्मक उर्जा का संचार होता है।

ज्यादा पेड़-पौधों वाली जमीन पर भी घर नहीं बनाना चाहिए। एेसी जगह उजाड़ वाली मानी जाती हैं। यहां इंसान के लिए रहना बेहद खतरनाक साबित हो सकता है। वास्तु के मुताबिक पेड़-पौधों को उजाड़ कर अपना निवास बनाने से पेड़-पौधों की बद्दुआ लगती है।