जयपुर। राजस्थान विधानसभा चुनाव की तैयारी में जुटी कांग्रेस का "मेरा बूथ, मेरा गौरव" सम्मेलन टिकट की चाह रखने वालों का अखाड़ा बनता जा रहा है।


प्रदेश के अन्य विधानसभा क्षेत्रों की तरह ही रविवार को जयपुर स्थित सिविल लाइंस और हवामहल विधानसभा क्षेत्रों में हुए "मेरा बूथ, मेरा गौरव" सम्मेलन में भी गुटबाजी साफ दिखाई दी।


दोनों विधानसभा क्षेत्रों में टिकट के दावेदार नेता आमने-सामने नजर आए। सिविल लाइंस विधानसभा क्षेत्र के "मेरा बूथ, मेरा गौरव" सम्मेलन में अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य विजय शंकर तिवाड़ी और उनके समर्थकों को घुसने नहीं दिया गया तो वहां तनाव के हालात बन गए।


विजय शंकर तिवाड़ी बाद में समर्थकों के साथ सड़क पर ही धरने पर बैठ गए। एक तरफ अंदर सम्मेलन चलता रहा वहीं दूसरी तरफ तिवाड़ी समर्थकों के साथ सम्मेलन स्थल के बाहर धरने पर बैठे रहे।


वह सिविल लाइंस से कांग्रेस के टिकट की दावेदारी कर रहे हैं। जयपुर शहर कांग्रेस अध्यक्ष प्रताप सिह खाचरियावास सिविल लाइंस से विधायक रह चुके हैं।


पिछली बार खाचरियावास यहां से हार गए थे। तिवाड़ी और खाचरियावास के समर्थकों के बीच धक्का-मुक्की भी हुई।


जिस समय तिवाड़ी और खाचरियावास के सर्मथकों में धक्का-मुक्की हो रही थी, उस दौरान कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव मोहन प्रकाश और सचिव विवेक बंसल सहित कई दिग्गज नेता सम्मेलन में मौजूद थे।


इसी तरह हवामहल विधानसभा क्षेत्र के "मेरा बूथ, मेरा गौरव" सम्मेलन में पूर्व मंत्री बृजकिशोर शर्मा, पूर्व सांसद महेश जोशी और पूर्व महापौर ज्योति खंडलेवाल के समर्थकों के बीच टकराव हुआ।


गौरतलब है कि पोलिग बूथ स्तर पर पार्टी को मजबूत करने और कार्यकर्ताओं को सक्रिय करने के लिए शुरू किए


गए "मेरा बूथ, मेरा गौरव" अभियान के तहत आयोजित हुए अधिकांश सम्मेलन में टिकट के दावेदार नेताओं के बीच विवाद के हालात उत्पन्न हुए हैं। कई सम्मेलनों में नेताओं और कार्यकर्ताओं के बीच हाथापाई भी हुई है।