कोटा. मेडिकल कॉलेज में अब एमबीबीएस की छात्राओं को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग दी जाएगी। इसकी शुरुआत रविवार को गर्ल्स हॉस्टल में हुई। मेडिकल कॉलेज की 300 एमबीबीएस छात्राओं को आत्मरक्षा के लिए ट्रेंड किया जाएगा। इसके साथ ही कोटा देश का पहला मेडिकल कॉलेज बन गया है जहां छात्राओं को इस तरह की ट्रेनिंग दी जा रही है। ये पहल मेडिकल कॉलेज और आईएमए कोटा की महिला विंग की तरफ से की गई है। रविवार को जूडो की अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी रेखा राठौड़ ने ट्रेनिंग दी।


30-30 छात्राओं को दी जाएगी ट्रेनिंग: मेडिकल कॉलेज में 30-30 एमबीबीएस छात्राओं को सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग दी जाएगी। ट्रेनिंग प्रत्येक रविवार को एक से दो घंटे दी जाएगी। इस ट्रेनिंग में प्रशिक्षक छात्राओं को आपात स्थिति में आत्मरक्षा के तरीके बताएंगी।


स्टेट आईएमए महिला विंग की अध्यक्ष डॉ. प्रीति शर्मा के मुताबिक, राज्य के अन्य मेडिकल कॉलेज की एमबीबीएस छात्राओं को भी सेल्फ डिफेंस की ट्रेनिंग दिलाने के प्रयास होंगे। आईएमए स्टेट महिला विंग की बैठक में इसका प्रस्ताव रखा जाएगा। लड़कियाें को खुद की सुरक्षा के लिए तैयार होना होगा।