गोंडा।  जिला महिला अस्पताल में चिकित्सकों की कमी पहले से ही है अब संकट और बढ़ गया है। सोमवार को यहां आई महिला मरीजों को अल्ट्रासाउंड कराने के लिए भटकना पड़ा। इसकी जब सीएमएस से शिकायत हुई तो उन्होंने टका सा जवाब दिया कि अल्ट्रासाउंड चिकित्सक कोर्ट गये हैं, जिला अस्पताल में अल्ट्रासाउंड कराओ। वहां पहुंची महिलाओं को भी परेशानी उठानी पड़ी।

सोमवार को जब महिला मरीज जिला महिला अस्पताल पहुंची तो वहां अव्यवस्था का नजारा दिखाई पड़ा। चिकित्सकों की सलाह पर अल्ट्रासाउंड के संबंधित विभाग गई तो वहां ताला लटकता मिला। मोतीगंज से आई भानुमति ने बताया कि सुबह आठ बजे से से साढ़े दस बजे तक अल्ट्रासाउंड विभाग खुलने का इंतजार करती रही। जब नही खुला तो पता करने पर जानकारी हुई कि आज नही खुलेगा। मनकापुर की शोभा ने बताया कि शनिवार को भी अल्ट्रासाउंड यहां बंद था और आज भी बंद हो गया है। इतना हर्जा खर्चा करके आई लेकिन बैरंग लौटना पड़ रहा है। करीब एक दर्जन से अधिक महिलाएं अल्ट्रासाउंड के लिए जिला महिला अस्पताल में भटकती रही लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इस बारे में जब सीएमएस से जानकारी की गई तो उन्होंने कहा कि संबंधित चिकित्सक आज कोर्ट केस में गये हैं इसलिए दिक्कत आ रही है। उन्होंने दावा किया कि रोजाना अल्ट्रासाउंड होता है कभी कभार दिक्कत तो आ ही जाती है। उन्होंने बताया कि मरीजों को जिला अस्पताल में जाने को कहा गया है। हालांकि मरीजों ने बताया कि जिला अस्पताल में भी अल्ट्रासाउंड कराना किसी मुसीबत से कम नहीं है। वहां भी कर्मचारियों की मनमानी चलती है।