गोरखपुर बागपत जेल में मुन्‍ना बजरंगी की हत्‍या के बाद गोरखपुर जेल में भी अलर्ट हो गया है। सुबह-सुबह जेल के अंदर सभी बैरकों की गहन तलाशी ली गई। बैरकों के कोने-कोने की जांच की गई। बागपत जेल में असलहा पहुंचने को लेकर प्रशासन सतर्क हुआ है। 


गोरखपुर में बंद हैं मुन्‍ना के शूटर

गोरखपुर जेल में भी मुन्‍ना बजरंगी के कुछ शूटर बंद हैं। उनके बैरकों की खास तौर पर तलाशी ली गई है। 


गोरखपुर में सक्रिय रहा है गैंग

मुन्‍ना बजरंगी गैंग गोरखपुर और आसपास के जिलों में भी सक्रिय रहा है। पिछले दिनों खोराबार क्षेत्र से एसटीएफ ने मुन्‍ना बजरंगी गैंग के कुछ शूटरों को अरेस्‍ट किया था। इसके अलावा अन्‍य जेलों से ट्रांसफर होकर भी बजरंगी गैंग के कुछ सदस्‍य गोरखपुर जेल पहुंचे हैं। 


गोरखपुर जेल से सस्‍पेंड होकर गए थे यू.पी.सिंह

बागपत जेल में मुन्‍ना बजरंगी की हत्‍या के बाद सस्‍पेंड किए गए जेलर यू.पी.सिंह का विवादों से पुराना नाता रहा है। वह गोरखपुर जेल में तैनात रह चुके हैं। यहां एक विवाद के चलते वह सस्‍पेंड हो गए थे।