वाराणसी। जमीन दिलवाने के नाम पर रुपया लेकर असम में तैनात सेना के जवान मार्कण्डेय तिवारी से धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। जवान की तहरीर पर कैंट थाने में तीन लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी समेत कई धाराओं में केस दर्ज किया गया है। 


तहरीर के अनुसार सलारपुर (गाजीपुर) निवासी मार्कण्डेय तिवारी की एक साल पहले वाराणसी में तैनाती के दौरान फुलवरिया निवासी रवींद्र मौर्य से मुलाकात हुई। जमीन लेने की बात बताने पर रवींद्र ने उन्हें फुलवरिया में जमीन दिखायी। इसके बाद वर्ष 2017 में उन्होंने दो किस्तों में 12 लाख 11 हजार रुपए जमा करवाये। आरोप है कि रुपया लेने के बाद रवींद्र को जब जमीन रजिस्ट्री कराने के लिए कहा गया तो वह टालमटोल करने लगा। 


बीते 29 जून को रवींद्र के घर जाकर उन्होंने रजिस्ट्री कराने को कहा तो उसने इनकार कर दिया। तहरीर पर पुलिस ने रवींद्र मौर्य, रवींद्र पाल व राजेश सिंह पर केस दर्ज कर लिया है। इंस्पेक्टर कैंट राजीव रंजन का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है।