जयपुर। राजस्थान के कोटा में सेना के लिए बुलेटप्रूफ गाड़ियां बनेंगी। सीमा और खुफिया ठिकानों पर छिपे आतंकवादियों पर नजर रखने के लिए पायलट रहित एयर क्राफ्ट तैयार होंगे। एयर क्राफ्ट ड्रोन की तरह काम करेंगे और इनके कैमरे ऑनलाइन पिक्चर कंट्रोल रूम को देंगे। इनका निर्माण कोटा में बनने वाले देश के पहले प्राइवेट रक्षा उपकरण प्लांट में होगा। इसके लिए कोटा के डीसीएम श्रीराम इंड्रस्ट्रीज लिमिटेड ने सरकार से लाइसेंस लिया है।


विदेशी तकनीक की मदद से कंपनी कोटा में स्थित प्लांट में गाड़ियां और पायलट रहित एयर क्राफ्ट बनाएगी। आगामी दो साल में पहली खेप तैयार होगी । कंपनी के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट और यूनिट हेड वीके जेटली ने बताया कि मेक इन इंडिया के तहत यह तैयारी शुरू की गई है। एक साल बाद कंपनी को लाइसेंस मिला है। प्राइवेट क्षेत्र में यह पहला प्लांट होगा, जो सुरक्षा से जुड़ी आधुनिक चीजें बनाकर देगा।


इसका लाइसेंस लेने में रक्षा मंत्रालय से लेकर राज्य सरकार तक 21 डिपार्टमेंट की स्वीकृति ली गई है। नया प्लांट 10 एकड़ जमीन पर तैयार होगा। यहां केवल सेना, पैरा मिलिट्री फोर्स और पुलिस के जवानों के लिए ही उपकरण बनाए जाएंगे । प्लांट में ट्रिपल लेयर सुरक्षा व्यवस्था रहेगी । पहली लेयर में कंपनी के गार्ड रहेंगे। उसके बाद इलेक्ट्रॉनिक सुरक्षा रहेगी। थर्ड पार्ट पर हर व्यक्ति सर्विलांस पर रहेगा। सुरक्षा के लिए सेना के बड़े अधिकारी समय-समय पर विजिट करते रहेंगे।