शादी के बाद लड़कियों को मां का घर छोड़कर ससुराल जाना पड़ता है। यहीं से उसकी जिंदगी की नई शुरुआत होती है। लड़की को चाहे कितना भी अच्छा ससुराल क्यों न मिल जाए लेकिन उसे कहीं न कहीं अपनी मां की कमी जरूर खलती है। मां भी इस बात को लेकर बहुत चिंतित रहती है कि ससुराल में जाएगी तो क्या करेगी। क्या उसकी हर फरमाइश पूरी हो पाएगी या नहीं। शादी से पहले मां उसे इस बात के लिए बहुत तैयार भी करती है लेकिन बेटी नजरअंदाज कर देती है। आइए जाने बाद में उसे कौन-कौन सी बातों पर मां याद आती है। 


मां के हाथ का खाना

ससुराल के लोगों की पसंद के हिसाब से खाना बनाना बहू की पहली प्राथमिकता होती है। उसके टेस्टी खाने की तारीफ भी वहां खूब होती है। पहले जिस चीज को लेकर वह नखरे करती थी बाद में वह उसे आराम से खा लेती है। इस बात को लेकर उसे मां की बहुत याद आती है। 


सामान ढूंढने में परेशानी

घर में जब कभी भी बेटी का सामान खो जाता था तो वह उसे ढूंढने के लिए मां को कहती थी। वहीं, शादी के बाद उसे इस तरह के काम खुद करने पड़ते हैं। 


बीमार पड़ने पर

मां अपने बच्चों का बहुत ख्याल रखती हैं खासकर तब जब वह बीमार पड़ जाते हैं। शादी के बाद जब ससुराल में बेटी बीमार हो जाती है तो मां के साथ बिताए पल उसे पल-पल याद आते हैं। वह मां की गोद को बहुत मिस करती है। 


सुबह जल्दी जागना

शादी से पहले जहां वह अपनी मर्जी से उठती थी, वहीं ससुराल में उसे सबसे पहले जागना पड़ता है। उस समय वह मां के गुस्से और उनके कामों को याद करती है।