अजमेर.राजस्थान लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित की जाने वाली प्रधानाध्यापक भर्ती परीक्षा 2018 के अभ्यर्थी जो कोर्ट के आदेश पर फार्म भर रहे हैं, वे ऑफ लाइन भी फार्म जमा कर सकते हैं। आयोग ने इसके लिए गुरुवार तक का समय तय किया है।



- आयोग सचिव पीसी बेरवाल ने बताया कि आयोग द्वारा प्रधानाध्यापक प्रतियोगी परीक्षा, 2018 के जारी विज्ञापन संख्याः 06 दिनांक 28 मार्च 2018 के अन्तर्गत आॅनलाईन आवेदन प्रस्तुत करने की अंतिम तिथि बढ़ाते हुए 31 मई 2018 की गई थी। कतिपय अभ्यर्थियों द्वारा अध्यापन अनुभव-प्रशैक्षणिक योग्यता के अभाव में आॅनलाईन आवेदन नहीं कर पाने के कारण राजस्थान हाईकोर्ट, जयपुर व जोधपुर में याचिकाऐं दायर की गईं।


- ऐसी याचिकाओं में कोर्ट ने आॅफलाईन व आॅनलाईन अथवा केवल आॅफलाईन आवेदन पत्र भरवाये जाने के लिए आयोग को निर्देशित किया है। चूंकि आयोग द्वारा आॅन लाईन आवेदन पत्र ही आमंत्रित किए जाते हैं तथा आॅफ लाईन आवेदन पत्र स्वीकार किए जाने सम्बन्धी कोई व्यवस्था नहीं है। परिणामस्वरूप आयोग द्वारा तत्सम्बन्धी आदेशों के परिप्रेक्ष्य में आॅनलाईन पोर्टल में आवश्यक तकनीकी संशोधन एवं आधार कार्ड नंबर अंकित करने की बाध्यता समाप्त करते हुए याची अभ्यर्थियों को केवल आॅनलाईन आवेदन करने के लिए स्पीड-पोस्ट पत्र एवं प्रेस विज्ञप्ति 14 मई 2018 जारी करते हुए सूचित किया जा चुका है।

- ऐसे अभ्यर्थी जिन्होंने कोर्ट द्वारा पारित अंतरिम आदेशों के परिप्रेक्ष्य में आयोग द्वारा जारी उक्त विज्ञप्ति के तहत अभी भी आॅनलाईन आवेदन प्रस्तुत नहीं किये हंै उन्हें इस प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से सूचित किया जाता है कि प्रेस विज्ञप्ति के जारी होने की दिनांक से 07 दिवस की समयावधि में आयोग कार्यालय में कमरा नं. 32 में अपना आॅफलाईन विस्तृत आवेदन पत्र आयोग की वेबसाइट से डाउनलोड कर आवश्यक पूर्ति करते हुए विज्ञापन में उल्लेखित आवेदन शुल्क भा.पो.आॅ. संलग्न कर मय कोर्ट आॅर्डर के जमा करा दें, ताकि उनके आवेदन उक्त पदों की भर्ती प्रक्रिया में सम्मिलित किये जा सकें।


- निर्धारित समयावधि के पश्चात इस सम्बन्ध में प्राप्त होने वाले आवेदन पत्रों पर आयोग द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जाएगी। इसके लिए अभ्यर्थी स्वयं जिम्मेदार होंगे। इस भर्ती में विज्ञापन की शेष शर्तें यथावत रहेंगीं।