कप्तान विराट कोहली ने पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी का बचाव किया है, जिन्हें लार्ड्स में दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच में भारत की 86 रन की हार के दौरान 58 गेंद में 37 रन की पारी खेलने के लिए आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। एक समय सीमित ओवरों के क्रिकेट के सर्वश्रेष्ठ फिनिशर माने जाने वाले धौनी को पिछले कुछ वर्षों में दूसरे छोर पर शीर्ष क्रम के साथी की गैरमौजूदगी में दबाव वाले मैचों में जूझना पड़ा है।लॉर्ड्स में इंग्लैंड के 323 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए शीर्ष क्रम के ध्वस्त होने के बाद धोनी पर काफी जिम्मेदारी थी, लेकिन वह तेज गति से रन बनाने में नाकाम रहे और भारत 50 ओवर में 236 रन पर ढेर हो गया।

         

इंग्लैंड के पूर्व कप्तान नासिर हुसैन ने जब धौनी की पारी पर सवाल किया तो कोहली ने मैच के बाद कहा, 'यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि लोग तेजी से नतीजे पर पहुंच जाते हैं। जब वह अच्छा करते हैं तो लोग उन्हें अब तक का सर्वश्रेष्ठ फिनिशर कहते हैं और जब चीजें सही नहीं होती तो लोग उन्हें निशाना बनाते हैं।' कोहली ने धौनी का बचाव करते हुए कहा, 'हमारा विचार पारी में गहराई लाना है। उनके पास अनुभव है लेकिन कभी कभी चीजें आपके पक्ष में नहीं होती। हमें उन पर और सभी खिलाड़ियों की क्षमता पर पूरा विश्वास है।' गौरतलब है कि धौनी खुद भी अब मैच फिनिश करने की अपनी क्षमता पर कह चुके हैं कि अब उम्र उन पर हावी हो रही है।