बिलासपुर। पेंड्रा थाना के कोटमी चौकी के ग्राम सकोला में दिनदहाड़े महिला का गला रेतकर हत्या कर दी गई। वारदात के बाद आरोपी युवक बाइक से भाग निकला। पुलिस हत्या का अपराध दर्ज कर आरोपी युवक की पतासाजी कर रही है।


पुलिस के अनुसार ग्राम सकोला निवासी राजकुमारी आर्मो पति अनुरूप सिंह (30) अपनी भाभी के साथ मायके ग्राम लैंगा जाने के लिए निकली थी। दोनों सुबह करीब 8.30 बजे कोरबा जाने वाली बस का इंतजार कर रही थी। तभी बस आने पर दोनों बस में सवार हो गई।


इसी बीच बाइक सवार युवक भुवनेश्वर ने राजकुमारी आर्मो को नीचे उतार लिया। इस दौरान युवक के साथ उसका विवाद भी हुआ। झूमाझटकी से महिला का मंगलसूत्र टूट गया। देखते ही देखते भुवनेश्वर ने धारदार हथियार से उसका गला रेतकर हत्या कर दी।


महिला के चिल्लाने पर आसपास के लोग वहां पहुंचे, तब तक वह खून से लथपथ होकर नीचे गिर गई थी। युवक उसके सिर में गमछा को ढंककर बाइक में सवार होकर भाग निकला। ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी।


खबर मिलते ही एसडीओपी अभिषेक सिंह, पेंड्रा टीआइ सुशीला टेकाम व चौकी प्रभारी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने शव का पंचनामा के दौरान उसकी पहचान की। तब तक उसके परिजन भी पहुंच गए थे। पुलिस ने इस मामले में हत्या का अपराध दर्ज कर लिया है। प्रारंभिक पूछताछ के बाद पुलिस आरोपी युवक की पतासाजी कर रही है।


कुछ देर पहले ही आरोपी युवक से हुआ था विवाद


हत्या के बाद पुलिस ने इस मामले की तस्दीक शुरू कर दी। परिजन से पूछताछ के बाद पुलिस ने मृतक के साथ जाने वाली महिला को बुलवाया और उसका बयान दर्ज किया। पूछताछ में महिला ने बताया कि बस में सवार होने से पहले बाइक सवार युवक आया था जो उससे अकेले में बहस कर रहा था। विवाद होने पर ही राजकुमारी ने उसके साथ जाने से मना कर दिया और वापस घर जाकर चाचा को बताने की बात कही थी। इतने में बस आ गई और वह बस में सवार होकर चली गई। राजकुमारी की हत्या की उसे खबर भी नहीं थी।


प्रेम-प्रसंग के चलते हुई घटना


पुलिस की जांच में यह बात भी सामने आई है कि आरोपी युवक भुवनेश्वर भी सकोला का ही रहने वाला है। महिला से पूर्व परिचित था और उनके बीच दोस्ती थी। पूर्व में उसकी दोस्ती की भनक परिजन को हो गई थी। लिहाजा परिजनों के साथ ही महिला ने भी उसे मिलना-जुलना व बातचीत बंद करने की चेतावनी दी थी। लेकिन पिछले दो माह से आरोपी युवक महिला को फिर से परेशान करने लगा था। पुलिस का कहना है कि आरोपी युवक के पकड़ में आने के बाद ही स्थिति स्पष्ट होगी।