इलाहाबाद शहर में पानी का मीटर लगाने की कवायद शुरू हो गई है। खास बात यह है कि शहर के घरों में दो तरह के मीटर लगेंगे। स्मार्ट सिटी के स्मार्ट जोन (सिविल लाइंस व आसपास के क्षेत्र) के घरों में अलग तरह के मीटर लगेंगे। शहर के बाकी हिस्से में सामान्य मीटर लगाने का काम इसी महीने शुरू होगा। पहले चरण में 48 हजार घरों में मीटर लगाए जाएंगे। जल निगम और जलकल के इंजीनियर संयुक्त रूप से मीटर के लिए मोहल्लों का चयन करेंगे। स्मार्ट मीटर और सामान्य मीटर में क्या अंतर होगा इसका जवाब अभी इंजीनियरों के पास भी नहीं है।


कॉलोनी और पानी बर्बादी वाले क्षेत्रों को प्राथमिकता


इलाहाबाद। सामान्य मीटर लगाने के लिए दो क्षेत्र पर मंथन हो रहा है। इंजीनियर कॉलोनियों और पानी बर्बादी वाले मोहल्लों में पहले मीटर लगाना चाहते हैं। जल निगम के अधिशासी अभियंता एके कटियार कहते हैं कि नवंबर तक 48 हजार मीटर घरों में लग जाएंगे।


पहले चरण की सफलता के बाद दूसरे चरण का काम


इलाहाबाद। शहर के 48 हजार घरों में मीटर लगने के बाद लगातार निगरानी रखी जाएगी। जलकल व जल निगम के इंजीनियर मीटर और इससे मिलने वाले बिल पर नजर रखेंगे। पहले चरण में लगने वाले मीटर सफल रहे तो दूसरे चरण में मीटर लगाने की कवायद शुरू होगी।


स्मार्ट जोन के घरों पर फैसला अभी नहीं


इलाहाबाद। शहर के स्मार्ट जोन में स्मार्ट मीटर लगना तय है लेकिन समय निर्धारित नहीं है। स्मार्ट सिटी की योजना पर काम कर रहे नगर निगम के अधिशासी अभियंता आशीष त्रिवेदी ने बताया कि पानी के मीटर पर अभी योजना नहीं बनी।