नई दिल्ली क्रिकेट प्रेमियों को भारत और इंग्लैंड के बीच पांच टेस्ट मैचों की सीरीज के 1 अगस्त से बर्मिंघम में शुरू हो रहे पहले मुकाबले का बेसब्री से इंतजार है। लेकिन, भारत के स्टार स्पिनर रविचंद्रन अश्विन भी इंग्लैंड दौरे पर टेस्ट सीरीज में अपनी फिरकी का कमाल दिखाने के लिए बेताब हैं। बीसीसीआई ने इंग्लैंड दौरे पर खेले जाने वाले पहले तीन टेस्ट मैचों के लिए जो टीम घोषित की है, उसमें अनुभवी आॅफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन के साथ ही रवींद्र जडेजा को भी शामिल किया है। वहीं, युवा स्पिनर कुलदीप यादव को तीसरे स्पिनर के रूप में टीम में शामिल किया गया है। 


अश्विन ने कहा-इंग्लैंड के खिलाफ अपना पूरा अनुभव झोंक दूंगा

टीम इंडिया के सबसे अनुभवी गेंदबाज अश्विन इंग्‍लैंड दौरे को लेकर काफी उत्‍साहित हैं। आईसीसी को दिए एक इंटरव्‍यू में अश्विन ने कहा, 'मैं हमेशा से इंग्‍लैंड में क्रिकेट खेलना पसंद करता रहा हूं। मुझे और हमारी टीम को यहां की परिस्थितियों को समझना होगा। टीम इंडिया काफी अच्‍छी है, लेकिन हमारा प्रदर्शन इस बात पर निर्भर करेगा कि हम यहां की परिस्थितियों में कितना जल्दी खुद को ढाल पाते हैं। मैं अपने अब तक के टेस्ट  अनुभव का इस्‍तेमाल कर टीम को जीत दिलाने वाला प्रदर्शन करना चाहूंगा। मेरी तैयारियां अच्‍छी हैं और इंग्लैंड में आने वाली चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार हूं।'

रविचंद्रन अश्विन ने अपना आखिरी टेस्‍ट मैच इंग्लैंड दौरे से पहले जून में अफगानिस्‍तान के खिलाफ खेला था। टीम इंडिया के इस ऑफ स्पिनर को टेस्‍ट क्रिकेट के सबसे कामयाब गेंदबाजों में शुमार किया जाता है, उन्‍होंने अब तक 58 टेस्‍ट मैचों में भारत के लिए 316 विकेट हासिल किए हैं। अश्विन इस दौरे पर टी-20 और वनडे टीम का हिस्सा नहीं थे। टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री ने इंग्लैंड दौरे पर टेस्ट सीरीज में कुलदीप यादव और युजवेंद्र चहल की बजाए रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा पर भरोसा जताया है। हालांकि, इंग्लैंड की परिस्थितियों को देखते हुए टीम इंडिया तीन तेज गेंदबाजों और एक स्पिनर के साथ खेल सकती है। ऐसे में हार्दिक पांड्या पांचवें तेज गेंदबाज की भूमिका निभा सकते हैं।