लखनऊ | शेयर मार्केट की तर्ज पर खरा सोना बेचने की तैयारी है। इस व्यवस्था में जहां एक तरफ लोगों को कम दाम पर सोना मिल सकेगा तो दूसरी तरफ बुलियन कारोबारी यानी सोने का थोक व्यापार करने वालों की दुकानें बंद होंगी। बाजार में खरा सोना बिके, इसके लिए देश में सोने का मानक तय करने वाली ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड (बीआईएस) भी सैम्पलिंग लेने का काम शुरू करने जा रही है।

सोने के दाम कम होंगे-
आम लोगों को कम दाम पर खरा सोना मुहैया कराने के लिए केन्द्रीय वित्त मंत्रालय ने तैयारी शुरू कर दी है। इंडिया बुलियन एंड ज्वैलर्स एसोसिएशन के राष्ट्रीय महासचिव सुरेन्द्र मेहता बताते हैं कि वित्त मंत्रालय ने उनके संगठन से कुछ सुझाव मांगे थे। उन्होंने लगभग 700 पन्नों की फाइल सौंपी है। इन सुझावों पर वित्त मंत्रालय ने अपनी सहमति जताई है। उन्होंने बताया कि जैसे स्टॉक एक्सचेंज देश में काम कर रहा है, उसी तरह सोने का कारोबार होगा। जिसका अब डीमेट एकाउंट होगा वह सोना खरीद सकेगा। इससे तस्करी पर भी रोक लगेगी। इस व्यवस्था पर सेबी की भी पैनी नजर रहेगी। उन्होंने बताया कि इससे सोने के दाम भी कम होंगे।
बाजार में मौजूद सोने की होगी सैम्पलिंग-
वित्त मंत्रालय बाजार में केवल खरा सोना बेचने के लिए चाक-चौबंद व्यवस्था कर रहा है। ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड इसके लिए पूरे देश में सोने की सैम्पलिंग लेने का अभियान शुरू करने जा रहा है। सुरेन्द्र मेहता ने बताया कि हमारा संगठन बीआईएस के डिप्टी डायरेक्टर जनरल अजय शर्मा से मुलाकात कर चुका है। उन्होंने बताया है कि सोना और सोने के बने आभूषणों की सैम्पल लेकर उनकी जांच की जाएगी।
खत्म होगा कस्टम, केवल जीएसटी रहेगा-
अभी सोने पर केन्द्र सरकार 10 फीसदी कस्टम भी वसूल करती है लेकिन स्टाक एक्सचेंज से सोना बिकने पर इस व्यवस्था में बदलाव आएगा। केन्द्र सरकार ने जो प्रस्ताव तैयार किया है उसमें सोने पर 10 फीसदी कस्टम को पूरी तरह से खत्म किया जाएगा। वहीं इस पर केवल तीन फीसदी जीएसटी ही रह जाएगा।