छत्तीसगढ़ के मुंगेली जिले में पुलिस में नौकरी लगाने के नाम पर बेरोजगार युवकों से ठगी करने वाले आरोपी संदीप ध्रुव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. लोरमी इलाके से बेरोजगार युवकों की शिकायत मिलने पर मुंगेली एसपी पारुल माथुर ने मामले को गंभीरता से लेते हुए आरोपियों की धर पकड़ के लिए एक विशेष टीम का गठना किया था. इसमें आरोपी संदीप ध्रुव को टीम ने अंबिकापुर से गिरफ्तार किया है.


आरोपी के पास से पुलिस की वर्दी, कंप्यूटर सिस्टम और फर्जी दस्तावेज जब्त किए गए हैं. आरोपी इतना शातिर था कि खुद को पुलिस अधिकारी बताकर अपने फेसबुक आईडी में डीआईजी और आईजी जैसे बड़े अधिकारियों की फोटो लगाकर पुलिस विभाग में अपनी पहुंच और पकड़ को दर्शाता था. आरोपी युवक अब तक करीब 40 युवकों को पुलिस विभाग में नौकरी दिलाने का झांसा देकर अपना शिकार बना चुका है.


ठगी के शिकार हुए जिले के सभी बेरोजगार सालभर से आरोपी के चक्कर लगाते रहे और ठगे जाने का एहसास होने पर मुंगेली एसपी से शिकायत की. बेरोजगार युवकों से 15 से 50 हजार तक की रकम आरोपी ने अपने खाते में डलवाए हैं. पुलिस की फर्जी आईडी से फर्जी दस्तावेज मेल कर उन्हें गुमराह करता रहा.


बहरहाल, एसपी पारुल माथुर ने कहा कि उन्होंने पहले भी नौकरी लगाने के नाम पर इस तरह के दलालों से बचने की सभी से अपील की थी. बावजूद इसके बेरोजगारी का दंश इतना है कि ये लोग आसानी से ठग लिए जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि आरोपी कितना भी शातिर क्यों न हो, लेकिन पुलिस के गिरफ्त से नहीं बच सकते.