नई दिल्ली,  मुंबई आतंकी हमले 26/11 के आरोपी डेविड हेडली पर अमेरिका की शिकागो जेल में जानलेवा हमला हुआ है. इसमें वह गंभीर रूप से घायल बताया जा रहा है. उसे शिकागो के नॉर्थ एवेस्टन अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां वह मौत से जूझ रहा है. दरअसल जेल में ही दो कैदियों ने हेडली पर 8 जुलाई को हमला किया था.


बता दें कि अमेरिकी नागरिक हेडली पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के साथ काम करता था और 26/11 मुंबई हमले के मुख्य साजिशकर्ताओं में शामिल रहा है. 

बताया जा रहा है कि शिकागो की जेल में दो कैदियों ने 8 जुलाई को हेडली पर हमला किया. हमले में गंभीर रूप से घायल हेडली को शिकागो के नॉर्थ एवेस्टन अस्पताल में भर्ती कराया गया है. उसे सीसीयू में रखा गया है और 24 घंटे उस पर निगरानी रखी जा रही है. जिन लोगों ने हेडली पर हमला किया है, वे दोनों भाई हैं और पुलिसकर्मियों पर हमले के आरोप में अभी जेल में बंद हैं.


35 साल की जेल


गौरतलब है कि हेडली लश्कर-ए-तैयबा के अंडरकवर एजेंट के तौर पर काम करता था. उसने मुंबई हमले के लिए विस्तार से जानकारियां जुटाईं और पाकिस्तान में लश्कर के ट्रेनिंग कैंप में हिस्सा लिया. हमले से पूर्व उसने भारत आकर हमले के ठिकानों की रेकी की. हेडली सितंबर 2006 से जुलाई 2008 के बीच पांच बार भारत आया. हमले की ठिकानों की तस्वीरें लीं और पाकिस्तान जाकर चर्चा की. 24 जनवरी 2013 को अमेरिका की संघीय अदालत ने दोषी करार दिया था. मुंबई हमले में भूमिका के लिए 35 साल की जेल हुई.


बता दें कि 2008 में जब मुंबई में लश्कर के आतंकियों ने 26/11 का हमला किया था उस वक्त पाक ने अपने फ्रॉग मैन कमांडो के जरिये लश्कर के 10 आतंकियों को ट्रेंड किया था. इस बात का खुलासा डेविड कोलमैन हेडली ने भी अपने कबूलनामे में किया था कि कैसे मुंबई में आतंकियों को भेजने के लिए पाक आर्मी ने लश्कर के 'फ्रॉग मैन' तैयार किए थे.