दिल्ली: दिल्ली में आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार बना सकती है. गुरुवार की रात बीजेपी ने उप-राज्यपाल को बताया था कि उनके पास जादुई आंकड़ा नहीं है और वो विपक्ष में बैठना पसंद करेगी. इसके बाद उप-राज्यपाल ने आम आदमी पार्टी को इस बाबत न्यौता दिया है. खबरों के मुताबिक उप-राज्यपाल के बुलावे के बाद शुक्रवार सुबह से ही आम आदमी पार्टी अल्पमत की सरकार बनाने पर विचार कर रही है.

हालांकि 'AAP' नेता कुमार विश्वास ने कहा है कि उनकी पार्टी बीजेपी और कांग्रेस से समर्थन किसी भी कीमत पर नहीं लेगी. उनकी ही पार्टी के संजय सिंह ने कहा, 'किसी से समर्थन लेने का प्रश्न ही नहीं उठता. बीजेपी अपनी दायित्व से पीछे हटी है और उप-राज्यपाल ने हमें बुलाया है तो हम चर्चा कर रहे हैं कि कैसे हम सरकार बना सकते हैं.'

दिल्ली विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद किसी भी पार्टी को पूर्ण बहुमत नहीं मिलने और बीजेपी और फिर 'AAP' के द्वारा विपक्ष में बैठने की बात के बाद से दिल्ली में राष्ट्रपति शासन लगना लगभग तय माना जा रहा था लेकिन जिस तरह से आम आदमी पार्टी ने अपना रुख पलटा है इसे देखकर यही संभावना लगने लगी है कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार बन सकती है.

ये होगा AAP का फॉर्मूला...
ऐसा माना जा रहा है कि सरकार बनाने का AAP का फॉर्मूला ये है कि वो जनता के बीच ये संदेश भेज सके कि बीजेपी 32 सीट जीतने के बाद भी सरकार बनाने की हिम्मत नहीं कर सकी और AAP ने 28 सीटें जीतने के बावजूद सरकार बनाई और बाद में अगर बीजेपी या कांग्रेस कोई भी सरकार गिराने की कोशिश करती है तो ठीकरा सीधे उस पार्टी पर ही फोड़ा जाए.

Source ¦¦ agency