नई दिल्ली: दिल्ली में सरकार गठन के मद्देनजर आम आदमी पार्टी ने एक बार फिर अपने पत्ते मंगलवार को नहीं खोले है। आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बीजेपी और कांग्रेस पर हमला बोला और कहा कि `आप` के दुष्प्रचार के मसले पर कांग्रेस और बीजेपी साथ आ गए हैं। उन्होंने कहा कि हम रविवार तक जनता की राय जानेंगे और जनता की राय के बाद सरकार बनाने के बारे में फैसला करेंगे। उन्होंने साफ कर दिया कि सोमवार को वह इस बात पर फैसला करेंगे कि सरकार गठन करना है या नहीं। कांग्रेस पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि सरकार गिराना तो कांग्रेस के खून में है।

केजरीवाल ने कहा कि सरकार बनाने के लिए AAP जनता की राय लेगी। इसके लिए जनता का जवाब जानने के लिए रविवार तक राय जानी जाएगी। उन्होंने कहा कि 25 लाख लोगों को चिट्ठी लिखकर राय जानी जाएगी। उन्होंने कहा कि फोन,एसएमसएस के जरिए जनता की राय ली जाएगी।

केजरीवाल ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि हमने बीजेपी को भी चिट्ठी लिखी थी। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने इस मुद्दे पर जवाब दिया है लेकिन बीजेपी ने नहीं दिया जो कि दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में चिट्ठियों का जवाब तो देना ही चाहिए। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी पर गैर-जिम्मेदार होने का आरोप लगाया जा रहा है जो गलत है। आम आदमी पार्टी चंद लोगों की पार्टी नहीं है और अपनी जिम्मेदारी बेहतर तरीके से समझती है।

Source ¦¦ agency