मुंबई। पिछले मैच में रोमांचक जीत से प्ले ऑफ में जगह बनाने वाली पिछली चैम्पियन मुंबई इंडियंस बुधवार को होने वाले आईपीएल-7 के एलिमिनेटर मैच में दो बार की चैंपियन चेन्नई सुपर¨कग्स से भिड़ेगी। मुंबई को ब्रेबोर्न स्टेडियम में बेहतरीन फॉर्म में चल रही चेन्नई टीम की मुश्किल चुनौती से निपटना होगा।

मुंबई इंडियंस के ओपनर्स पारी की शानदार शुरुआत कर रहे हैं जिसकी वजह से मुंबई की चिंता काफी हद तक खत्म हो गई है। पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी माइकल हसी और वेस्टइंडीज के लेंडल सिमंस की जोड़ी इन दिनों शानदार लय में हैं और टीम को ठोस शुरुआत दे रहे हैं। खास तौर से सिमंस गजब की लय में हैं और आइपीएल 7 में शतक जड़ने वाले एकमात्र क्रिकेटर है। अंबाटी रायुडू और कप्तान रोहित शर्मा अच्छी लय में है। टीम का मध्य क्रम कोरी एंडरसन और वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर किरोन पोलार्ड की मौजूदगी से मजबूत है। खास तौर से कोरी एंडरसन ने पिछले मैच में राजस्थान के खिलाफ जैसी पारी खेली थी उससे टीम की आशाएं उनसे और बढ़ गई हैं। मुंबई का गेंदबाजी आक्रमण लसिथ म¨लगा के नहीं रहने से कमजोर दिखता है। प्रवीण कुमार को चोटिल जहीर खान की जगह टीम में शामिल किया गया है लेकिन उनके भी चोटिल होने की वजह से ये साफ नहीं है कि वो इस अहम मैच में खेलेंगे या नहीं। कर्नाटक के युवा लेग स्पिनर श्रेयस गोपाल की मौजूदगी से गेंदबाजी में ऑफ स्पिनर हरभजन ¨सह को काफी मदद मिली है। दूसरी तरफ चेन्नई का बल्लेबाजी क्रम अच्छा है, जिसमें वेस्टइंडीज के ड्वेन स्मिथ और न्यूजीलैंड के ब्रेंडन मैकुलम के रुप में खतरनाक सलामी जोड़ी मौजूद है। वहीं साउथ अफ्रीका के डू प्लेसिस ने पिछले मैच में फॉर्म में वापसी की और डेविड हसी के शामिल होने से टीम की बल्लेबाजी में मजबूती आई है। इसके अलावा सुरेश रैना और एमएस धौनी भी टीम की बैटिंग क्रम को और मजबूत बनाते हैं। इसके अलावा टीम की गेंदबाजी मुंबई के मुकाबले काफी अच्छी है। मोहित शर्मा अब तक उनके लिए सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज रहे हैं। ऑलराउंडर र¨वद्र जडेजा ने भी 16 विकेट हासिल कर अपनी काबिलियत साबित की है साथ ही आर.अश्विन भी टीम के लिए उपयोगी गेंदबाजी साबित हुए हैं। बेशक ये मुकाबला बेहद रोमांचक होने वाला है क्योंकि चेन्नई की टीम का प्रदर्शन लगातार बढि़या रहा है तो दूसरी तरफ मुंबई ने कई शुरुआती मुकाबले गंवाने के बाद जिस तरह से टाप चार में जगह बनाई को काबिलेतारीफ है। इसके अलावा मुंबई पर खिताब बचाने का भी दबाव है तो चेन्नई भी धौनी की कप्तानी में तीसरी बार आइपीएल खिताब जीतने को बेताब है।

Source ¦¦ agency