मुंबई। चेन्नई सुपरकिंग्स और किंग्स इलेवन पंजाब के बीच हुए आइपीएल-7 के रोमांचक सेमीफाइनल (क्वॉलीफायर-2) मुकाबले में पंजाब द्वारा दिए गए 227 रनों के लक्ष्य के जवाब में ताबड़तोड़ शुरुआत के बावजूद चेन्नई की हार से कोच स्टीफन फ्लेमिंग निराश हैं। फ्लेमिंग के मुताबिक सुरेश रैना और ब्रैंडन मैकुलम के रन आउट ने चेन्नई की पारी का संतुलन बिगाड़ दिया।

फ्लेमिंग ने कहा, 'हमे नहीं लगा कि हम मैच से बाहर हैं और शुरुआती छह ओवरों ने ये दिखा भी दिया कि पिच बल्लेबाजी के लिए कितनी अच्छी थी। ये पता था कि इतनी तेजी से लक्ष्य का पीछा करते वक्त कुछ झटके लग सकते हैं लेकिन जाहिर तौर उन दो रन आउट (रैना और मैकुलम) ने हमारे संतुलन को बिगाड़ दिया। उन्होंने (पंजाब) गेंदबाजी भी सटीक की और गेंदबाजों के लिए मुश्किल हो जाता है जब तकरीबन 420 रन बन चुके हों। उनका आंकलन हमसे ज्यादा बेहतर रहा। सुरेश (रैना) के आउट होने के बाद हमने नियमित अंतराल में विकेट खोए। बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए बड़ी साझेदारी और खिलाड़ियों पर बड़े स्कोर का दबाव बहुत ज्यादा होता है।

सुरेश की पारी (87) शानदार थी लेकिन हमे जीत के लिए उससे तकरीबन 140 रनों की उम्मीद होने लगी थी और बाकी के बल्लेबाजों को उसके इर्द-गिर्द बल्लेबाजी करनी थी। अगर वो (सुरेश रैना) तीन-चार ओवर और टिक जाता तो वो हमारे लिए मैच जिताकर लौटता।'

Source ¦¦ agency