बेंगलुरू। बेशक किंग्स इलेवन पंजाब रविवार को पहली बार आइपीएल फाइनल में पहुंचने व अच्छा खेल दिखाने के बावजूद खिताब नहीं जीत सकी लेकिन इस आइपीएल सीजन ने उन्हें कई युवा स्टार्स दिए। इन्हीं में एक नाम ऐसा भी था जो आने वाले दिनों में भारतीय क्रिकेट के लिए एक अच्छा ऑलराउंडर बनकर सामने आ सकता है। इस खिलाड़ी को फाइनल के बाद 'इमर्जिग प्लेयर' खिताब से भी नवाजा गया। कौन है ये युवा धुरंधर, आइए जानते हैं।

ये युवा धुरंधर है गुजरात के 20 वर्षीय अक्षर पटेल। ये गेंदबाज इस आइपीएल सीजन में पंजाब के सबसे सफल गेंदबाजों में से एक रहा और उन्होंने 17 मैचों में 23.82 की औसत से व 6.13 की इकॉनमी रेट से 17 विकेट चटकाए और वह विकेट लेने के मामले में सीजन में छठे स्थान पर रहे। वहीं फाइनल मुकाबले में भी उन्होंने चार ओवर में महज 21 रन लुटाते हुए सबसे किफायती गेंदबाजी की। इस सीजन में अक्षर ने अपनी बल्लेबाजी से भी सबको प्रभावित किया। उन्हें बल्लेबाजी क्रम में काफी नीचे होने की वजह से मौका तो कम मिला लेकिन जब भी मौका मिला, उन्होंने अपने शॉट्स से प्रभाव छोड़ा। अक्षर ने 17 मैचों में 8 पारियों में बल्लेबाजी की जिस दौरान उन्होंने कुल 62 रन बनाए, इसमें नाबाद 42 रनों की एक मैच जिताऊ पारी भी शामिल रही।

अक्षर ने इमर्जिग प्लेयर का खिताब हासिल करने के बाद कहा, 'मुझे बेहद खुशी है कि मैंने इतने देशी-विदेशी दिग्गज खिलाड़ियों को पीछे छोड़कर ये खिताब अपने नाम करने में सफलता हासिल की है।' अक्षर ने अपनी सफलता का श्रेय पंजाब की टीम के गेंदबाजी कोच जो डावेस को दिया। अक्षर ने कहा, 'हमारे गेंदबाजी कोच जो (डावेस) हमारे लिए हर बल्लेबाजी के हिसाब से काफी प्लान बनाते हैं और मैंने उस पर काम भी किया। मुझे लगता है कि मैं बैटिंग ऑलराउंडर हूं लेकिन आज के प्रदर्शन के बाद गेंदबाजी ऑलराउंडर भी कह सकते हैं।'

Source ¦¦ agency