Monday, September 26, 2022
Homeदुनियाभीमकाय चालीसपद को निगलने की जद्दोजहद में प्राण गवां बैठा दुर्लभ सांप

भीमकाय चालीसपद को निगलने की जद्दोजहद में प्राण गवां बैठा दुर्लभ सांप

फ्लोरिडा । जीव-जंतुओं में सर्प को सबसे घातक श्रेणी में रखा जाता है। मनुष्य अपने आसपास या टीवी पर जिन जीवों को अक्सर देखता है, उसे सिर्फ उनके बारे में ही ज्यादा पता होता है पर जब कोई विचित्र जीव सामने आ जाता है और जब उसकी शक्तियों का पता चलता है तो डर जाना लाजमी है। हाल ही में एक सेंटीपीड यानी चालीसपद को देखकर लोगों को ऐसा ही लगा। अमेरिका का ये मामला लोगों को हैरान कर रहा है। एक पार्क में लोगों को सांप मरा मिला जिसके मुंह में चालीसपद फंसा हुआ था। रिपोर्ट के अनुसार फ्लोरिडा के जॉन पेनीकैंप कोरल रीफ स्टेट पार्क में एक शख्स टहलने गया था जब उसे अचानक एक छोटा सांप पत्ते के ऊपर मरा मिला। सांप के मुंह में एक सेंटीपीड भी फंसा हुआ था। ये मामला इस साल की शुरुआत का है जब शख्स ने इस घटना की फोटो खींची थी। सांपों का कीड़े-मकौड़े खाना आम बात है मगर उसे निगलते वक्त मर जाना काफी दुर्लभ है।
फोटो में दिख रहा सांप उत्तरी अमेरिका के सबसे दुर्लभ सांपों में से एक है। इसका नाम रिम रॉक क्राउन स्नेक है। वैज्ञानिकों का दावा है कि उन्होंने इस सांप को पिछले 4 सालों में नहीं देखा। जब ये तस्वीरें उन्हें मिली तो वो तुरंत पार्क पहुंचे और देखकर दंग रह गए। सांप ने अपने साइज से बड़े सेंटीपीड को निगलने की कोशिश की और उसमें उसकी सांस अटक गई, जिससे वो मर गया। हाल ही में लाइव साइंस वेबसाइट ने दावा किया कि सांस रुकने के अलावा एक संभावना ये भी है कि उस सेंटीपीड का तेज जहर सांप ने निगल लिया जिससे उसकी मौत हो गई।
रिम रॉक सांप 6 से 11 इंच के होते हैं और ये जहरीले नहीं होते। ये फ्लोरिडा कीज में ज्यादा पाए जाते हैं और राज्य के दक्षिण पूर्वी एटलांटिक कोस्ट पर पाए जाते हैं। साल 1975 से इसे फ्लोरिडा में दुर्लभ प्रजाति की लिस्ट में डाल दिया गया था। फ्लोरिडा फिश एंड वाइल्डलाइफ कंजर्वेशन कमिशन के वैज्ञानिक केविन ने बताया कि ये मिट्टी के नीचे रहते हैं और भारी बारिश में पानी भरने के कारण ही बाहर निकलते हैं।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments