Sunday, September 25, 2022
Homeदुनियामहारानी के अंतिम संस्कार के बाद सात दिन तक शाही परिवार मनाएगा...

महारानी के अंतिम संस्कार के बाद सात दिन तक शाही परिवार मनाएगा शोक

लंदन । ब्रिटेन के शाही परिवार ने ऐलान किया है कि बकिंघम पैलेस महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के अंतिम संस्कार के सात दिन बाद तक शाही परिवार शोक मनाएगा। ब्रिटेन में सबसे लंबे समय तक राज करने वाली महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का 70 साल तक शासन करने के बाद गुरुवार को स्कॉटलैंड के बाल्मोरल कैसल में निधन हो गया। वह 96 वर्ष की थीं। महारानी के अंतिम संस्कार की तारीख अभी तक निर्धारित नहीं हुई है। बकिंघम पैलेस ने एक बयान में कहा, ‘महारानी के निधन के बाद राजा की इच्छा है कि शाही शोक की अवधि महारानी के अंतिम संस्कार के सात दिन बाद तक रहेगी।’
राष्ट्रीय शोक से अलग शाही शोक की अवधि में शाही परिवार के सदस्य, परिवार के कर्मचारी और आधिकारिक ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों के साथ रस्मी ड्यूटी के लिए तैनात जवान शोक मनाएंगे। राष्ट्रीय शोक के विवरण के बारे में सरकार के शुक्रवार को घोषणा करने की संभावना है। दो सप्ताह के भीतर वेस्टमिंस्टर एब्बे में महारानी का राजकीय तरीके से अंतिम संस्कार होने की संभावना है। उपयुक्त दिन की पुष्टि बकिंघम पैलेस द्वारा की जाएगी। शुक्रवार को सेंट पॉल कैथेड्रल में महारानी की याद में प्रार्थना सभा आयोजित होगी, जिसमें प्रधानमंत्री लिज ट्रस और अन्य वरिष्ठ मंत्री शामिल होंगे। चूंकि स्कॉटलैंड में महारानी का निधन हुआ, इसलिए उनका ताबूत एडिनबर्ग में सेंट जाइल्स कैथेड्रल में रखा रहेगा। जनता को कुछ दिनों के बाद ताबूत देखने की अनुमति दी जा सकती है।
इसके बाद ताबूत को लंदन ले जाया जाएगा, जहां लोगों को वेस्टमिंस्टर हॉल में चार दिनों की अवधि में श्रद्धांजलि की इजाजत होगी। राजा चार्ल्स शुक्रवार को ब्रिटिश प्रधानमंत्री ट्रस के साथ अपना पहला संबोधन देंगे, जिसके बाद एक संयुक्त संसद सत्र महारानी को श्रद्धांजलि अर्पित करेगा। संसद की 10 घंटे की बैठक के दौरान पूरी तरह से महारानी पर ध्यान केंद्रित करने के साथ, सरकार का नियमित कामकाज रुक जाता है, जब तक कि कुछ भी जरूरी नहीं होता है। मध्य लंदन में, महारानी के जीवन के प्रत्येक वर्ष के लिए 96 राउंड तोपों की सलामी दी जाएगी। इस दौरान चर्च की घंटियां भी बज उठेंगी। इंग्लैंड के चर्च ने पूरे देश में पैरिश, चैपल और कैथेड्रल को परामर्श भेजकर उन्हें प्रार्थना या विशेष सभाओं के लिए खोलने को कहा है।
ट्रस और वरिष्ठ मंत्री मध्य लंदन में सेंट पॉल कैथेड्रल में महारानी की याद में प्रार्थना सभा में भाग लेंगे और फिर सरकार राष्ट्रीय शोक की अवधि की पुष्टि करेगी, जो कि लगभग 12 दिनों तक रहने का अनुमान है। यह अवधि अब से लेकर महारानी के अंतिम संस्कार के अगले दिन तक की होगी। अंतिम संस्कार के दिन राष्ट्रीय शोक दिवस के रूप में सार्वजनिक अवकाश होगा।
ऑपरेशन लंदन ब्रिज के तहत आगामी दिनों के लिए पूर्व निर्धारित कार्यक्रम पर हस्ताक्षर करने को लेकर चार्ल्स, नॉरफॉक के ड्यूक अर्ल मार्शल से मिलेंगे, जो रानी के अंतिम संस्कार के प्रभारी हैं। चार्ल्स (73) शाही परिवार और परिवारों के सदस्यों के लिए अदालत या शाही शोक की अवधि तय करेंगे, जो एक महीने तक रहने की संभावना है। राष्ट्र प्रमुख के रूप में सेवा करने का संकल्प लेने वाले चार्ल्स शुक्रवार शाम को टेलीविजन के जरिए राष्ट्र के नाम अपने पहले संबोधन में अपनी मां को श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। शनिवार को, संसद सदस्यों के लिए राजा चार्ल्स तृतीय के प्रति निष्ठा की शपथ लेने के लिए ‘हाउस ऑफ कॉमन्स’ का एक विशेष सत्र होगा।
साथ ही, नए राजा के रूप में चार्ल्स के नाम की औपचारिक घोषणा के लिए लंदन में सेंट जेम्स पैलेस में ‘एक्सेसन काउंसिल’ की बैठक होगी। इसके बाद नए राजा की पहली सार्वजनिक घोषणा को गार्टर ‘किंग ऑफ आर्म्स’ द्वारा सेंट जेम्स पैलेस में फ्रायरी कोर्ट की बालकनी में पढ़ा जाएगा। ब्रिटेन में आधे झुके झंडे अपराह्न एक बजे पूरी तरह फहराए जाएंगे और घोषणा से पहले 24 घंटे तक इसी अवस्था में रहेंगे, जिसके बाद झंडे फिर से आधे झुका दिए जाएंगे।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments