भारी बारिश की वजह से बाढ़ आ जाने से जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग अवरुध 

जम्मू । जम्मू और कश्मीर के कुछ हिस्सों में भारी बारिश की वजह से बाढ़ आ जाने पर एक निर्माणाधीन पुल की ‘शटरिंग और जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग का 150 फुट लंबा खंड पानी में बह गया। अधिकारियों ने बुधवार को इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि रामबन और उधमपुर जिलों में भूस्खलन के कारण लगातार दूसरे दिन बुधवार को भी रणनीतिक महत्व का मार्ग बंद रहा, जिससे बड़ी संख्या में वाहन फंसे हुए हैं।
उन्होंने बताया कि जम्मू क्षेत्र के पुंछ और राजौरी जिलों को दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले से जोड़ने वाली मुगल रोड पर भी भूस्खलन के कारण यातायात बाधित रहा। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया, भारी बारिश होने के कारण निर्माणाधीन पीराह पुल की ‘शटरिंग’ बह गई। उन्होंने बताया कि हालांकि, यातायात के लिए आमतौर पर इस्तेमाल किया जाने वाला पुल सुरक्षित है। उन्होंने बताया कि उधमपुर जिले में, उधमपुर शहर से 16 किलोमीटर दूर तोल्दी नाले के पास जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग का 150 फुट लंबा खंड बुधवार को बह गया। कई मशीन भी तवी नदी में अचानक बाढ़ आ जाने पर बह गई, जिनका इस्तेमाल सड़क को ठीक करने में किया जा रहा था। यातायात अधिकारी ने कहा, बुधवार को (यातायात के लिए) सड़क के खुलने की संभावना कम है।
अभी तक किसी के हताहत होने की कोई खबर नहीं है। उन्होंने कहा कि रामबन और उधमपुर जिलों में 270 किलोमीटर लंबे राजमार्ग पर 33 से अधिक स्थानों पर भूस्खलन और कई स्थानों पर चट्टानें गिरने की घटनाएं हुई हैं। उन्होंने कहा कि पंथियाल में मंगलवार को चट्टानें गिरने के कारण रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण इस राजमार्ग को यातायात के लिए बंद कर दिया गया था। हालांकि, राजमार्ग को साफ करने का कार्य जारी है। उन्होंने कहा कि राजमार्ग पर बैटरी चेश्मा में स्थिति अधिक खराब है, क्योंकि वहां फंसे भारी वाहनों को निकालने के लिए काफी सारी मिट्टी को हटाना बाकी है।
उन्होंने कहा कि खरी से महू और खारी से नचलाना को जोड़ने वाली सड़क चट्टानें गिरने के कारण बाधित है। सड़क का एक हिस्सा हिरनिहाल में जलमग्न हुआ है। उन्होंने कहा कि लोगों को अनावश्यक घरों से बाहर नहीं निकलने की सलाह दी जाती है। खबरों के मुताबिक, राजमार्ग के किनारे विभिन्न स्थानों पर तकरीबन एक हज़ार से अधिक वाहन फंसे हुए हैं। उन्होंने कहा कि चूंकि राजमार्ग यातायात के लिए बंद है, इसलिए फंसे हुए यात्रियों को भोजन और चिकित्सा सुविधाएं मुहैया कराई गई हैं। अधिकारियों ने कहा कि रामसू-रामबन सेक्टर में अभी भी बारिश हो रही है। उन्होंने बताया कि पोशाना में भूस्खलन के कारण मुगल मार्ग बंद है, चीनी नाला पर एसएसजी मार्ग भी भूस्खलन की वजह से यातायात के लिए अवरूद्ध है और उसे साफ करने का कार्य जारी है। अधिकारियों ने कहा कि भारी बारिश के कारण सड़क से चट्टानें और मिट्टी हटाने के कार्य में बाधा आ रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button