Monday, September 26, 2022
Homeमध्यप्रदेशमुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना में चलेगी 10 नई ट्रेन, इंदौर से यात्री जा...

मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना में चलेगी 10 नई ट्रेन, इंदौर से यात्री जा सकेंगे तिरुपति

भोपाल ।  प्रदेश सरकार वरिष्ठ नागरिकों के लिए 'मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना' की 10 नई ट्रेन और चलाएगी। यह ट्रेन प्रदेश के कई जिलों से चलेगी, जिसमें नर्मदापुरम से अयोध्या-वाराणसी-काशी, खंडवा से द्वारिका-सोमनाथ और नीमच से वाराणसी-अयोध्या की ट्रेन 25 सितंबर को जाएगी। उमरिया से रामेश्वरम और छतरपुर से जगन्नाथपुरी की ट्रेन 26 सितंबर को तीर्थ-यात्रियों को लेकर जाएगी। साथ ही शिवपुरी से कामाख्या, मुरैना से रामेश्वरम, बैतूल से अयोध्या-वाराणसी, डॉ. आंबेडकर नगर महू से तिरूपति और बालाघाट से जगन्नाथपुरी की तीर्थ-दर्शन ट्रेन छह अक्टूबर को रवाना होगी। पयर्टन मंत्री उषा ठाकुर ने बताया कि नर्मदापुरम से अयोध्या-वाराणसी-काशी ट्रेन में नर्मदापुरम, भोपाल और सागर के तीर्थ-यात्री, खंडवा से द्वारिका-सोमनाथ ट्रेन में खंडवा, खरगोन, झाबुआ और आलीराजपुर के तीर्थ-यात्री, नीमच से अयोध्या-वाराणसी ट्रेन में, नीमच, मंदसौर और रतलाम के तीर्थ-यात्री, उमरिया से रामेश्वरम ट्रेन में उमरिया, शहडोल और अनूपपुर के तीर्थ-यात्री, छतरपुर से जगन्नाथ पुरी की ट्रेन में छतरपुर, टीकमगढ़, निवाड़ी और विदिशा के तीर्थ-यात्री शामिल होंगे। वहीं छह अक्टूबर से चलने वाली शिवपुरी से कामाख्या की ट्रेन में शिवपुरी, श्योपुर, गुना और अशोक नगर के तीर्थ-यात्री, मुरैना से रामेश्वरम ट्रेन में मुरैना, ग्वालियर और दतिया के तीर्थ-यात्री, बैतूल से अयोध्या-वाराणसी-काशी ट्रेन में बैतूल, विदिशा और सीहोर के तीर्थ-यात्री, डॉ. आंबेडकर नगर महू से तिरूपति ट्रेन में इंदौर, धार और उज्जैन के तीर्थ-यात्री एवं बालाघाट से जगन्नाथपुरी ट्रेन में बालाघाट, मंडला, जबलपुर और डिंडोरी के तीर्थ-यात्री शामिल होंगे। मंत्री ठाकुर ने बताया कि प्रदेश के 60 वर्ष के पुरुष और 58 वर्ष की महिला या उससे अधिक आयु के नागरिक जो आयकर दाता नहीं है, इस योजना में तीर्थ-दर्शन कर सकते हैं। आवेदन संबंधित जिले में निकटतम तहसील, स्थानीय निकाय, जनपद कार्यालय या कलेक्ट्रेट द्वारा निर्धारित अन्य विज्ञप्ति स्थानों पर जमा किए जा सकेंगे। यात्रियों का चयन संबंधित जिले के कलेक्टर द्वारा किया जाएगा। यात्रा के दौरान यात्रियों को भोजन, नाश्ता, चाय, रूकने की व्यवस्था, तीर्थ दर्शन तक बसों से जाने, वापस ट्रेन में लाने और गाइड की व्यवस्था आईआरसीटीसी करेगा। तीर्थ-यात्रियों को तुलसी माला और स्मृति चिन्ह दिए जाएंगे। तीर्थ यात्रियों के लिए भजन मंडली की व्यवस्था और भजन संध्या का आयोजन भी किया जाएगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments