Friday, October 7, 2022
Homeमध्यप्रदेशभोपाल के बिलाबोंग की स्कूल बस में बच्ची से अश्लील हरकत वाले...

भोपाल के बिलाबोंग की स्कूल बस में बच्ची से अश्लील हरकत वाले आरोपित ड्राइवर के घर चला बुलडोजर

भोपाल ।   राजधानी में एक साढ़े तीन वर्षीय नर्सरी की छात्रा के साथ स्कूल बस में अश्लील हरकत करने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। पुलिस ने इस मामले में दुष्कर्म और पोक्सो एक्ट की धाराओं में एफआइआर दर्ज कर ली है। मंगलवार को जिला प्रशासन ने आरोपित बस ड्राइवर के घर तोड़ दिया है। आरोपित बस चालक और बच्चों की देखभाल करने वाली एक महिला को हिरासत में लिया था। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि बच्ची के साथ आठ सितंबर को स्कूल बस में यह घटना हुई, दोनों आरोपित से पूछताछ कर घटनाक्रम पता किया जा रहा है। स्‍कूल बस में कैमरे लगेे हैं, लेकिन वे बंद थे। इस कारण घटना के फुटेज भी पुलिस को नहीं मिल सके हैं। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। इस मामले में जांच दल गठित किया गया है।

राज्य मंत्री परमार के निर्देश पर बिलाबोंग स्कूल की घटना के लिए जांच दल का गठन

स्कूल शिक्षा (स्वतंत्र प्रभार) एवं सामान्य प्रशासन राज्य मंत्री इन्दर सिंह परमार ने बिलाबोंग स्कूल के ड्राइवर द्वारा साढ़े तीन साल की बच्ची से बस में दुष्कर्म मामले पर त्वरित संज्ञान लेते हुए घटना की जांच के निर्देश दिए है। राज्य मंत्री परमार के निर्देश पर स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा कमेटी गठित की गई है। कमेटी में अपर संचालक राजीव सिंह तोमर, जिला शिक्षा अधिकारी नितिन सक्सेना और सहायक संचालक कनक प्रसाद शामिल हैं। यह कमेटी इस घटना में स्कूल प्रबंधन की लापरवाही, पालक शिक्षक संघ / पालकों द्वारा तत्संबंधी पूर्व शिकायतों पर स्कूल प्रबंधन द्वारा की गई कार्रवाई, परिवहन नियमों एवं निर्देशों के अंतर्गत विद्यालयीन बसों के संचालन तथा अन्य सभी प्रासंगिक बिंदुओं पर जांच कर जांच प्रतिवेदन स्कूल शिक्षा विभाग को देंगी।मामला सुर्खियों में आने के बाद सरकार ने भी इस मामले में संज्ञान लेते हुए स्‍कूल प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई की बात कही है। मंगलवार सुबह पत्रकारों ने जब इस बारे में गृहमंत्री नरोत्‍तम मिश्रा की प्रतिक्रिया लेनी चाही तो उन्‍होंने कहा कि बिलाबोंग स्कूल से जुड़ी घटना में दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। जहां तक स्‍कूल प्रबंधन का सवाल है, तो मेरा भी मानना है कि उन्‍होंने पूरे मामले में लीपापोती करने की कोशिश की है। पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है और जांच में दोषी पाए जाने पर स्कूल प्रबंधन पर भी कार्रवाई की जाएगी। उधर, प्रदेश के परिवहन व राजस्‍व मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने भी इस घटना की निंदा करते हुए कहा कि इसी माह के अंत तक सभी बसों में, टैक्‍सी, ओला, उबर आदि में पैनिक बटन लगाए जाएंगे। हमारा अस्‍थायी कमांड कंट्रोल सेंटर बन गया है। पैनिक बटन दबाते ही कमांड कंट्रोल सेंटर में हरकत होगी और पुलिस मदद के लिए पहुंच जाएगी।

 

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments