Sunday, September 25, 2022
Homeमध्यप्रदेशघूमने वाली पुली से चीते छोड़ेंगे पीएम

घूमने वाली पुली से चीते छोड़ेंगे पीएम

  • कूनो में चीतों को पहले रिमोट से छोडऩे की थी तैयारी,अब मैकेनिकल ढंग से पुली घुमाएंगे
  • 1500 वर्ग मीटर के बाड़ें निकलेंगें चीते, ऊपर की ओर रहेंगें पीएम सहित वीवीआइपी

भोपाल । प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में 17 सितंबर के ऐतिहासिक क्षण चीता आगमन पर पूरे देश की नजर है। खुद अपने जन्मदिन पर पीएम नरेन्द्र मोदी कूनो में होंगे। कूनों में दो नर और एक मादा चीतों को पीएम मोदी खुद 1500 वर्ग मीटर के बाड़े में छोड़ेंगे, जिसके लिए घूमने वाली पुली का उपयोग किया जाएगा। यह इलेक्ट्रोनिक नहीं मैकेनिकल होगी,पहले रिमोट के जरिए चीता छोडऩे की तैयारी थी। नीचे केज रहेगा और ऊपर पीएम मोदी सहित वीवीआइपी रहेंगे। ग्वालियर एयरबेस पर 15 सितंबर की सुबह पीएम मोदी पहुंच जाएंगे और यहां से एयरफोर्स के एमआइ-17 हेलीकाप्टर के जरिए लगभग तीस से चालीस मिनट में कूनो पहुंचेंगे। स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप की ओर से संभावित कार्यक्रम श्योपुर जिला प्रशासन व पुलिस के पास पहुंच गया है। पीएम मोदी 30 मिनट कूनो में रूकेंगे और इसके बाद हेलीकाप्टर से कराहल पहुंचेंगे। यहां यह बता दें कि 17 सितंबर को 74 साल बाद भारत में चीता युग लौट रहा है। साउथ अफ्रीका के नामीबिया से आठ चीतों को कूनो नेशनल पार्क लाया जा रहा है, जिन्हें पीएम नरेन्द्र मोदी छोड़ेंगे। इस दौरान प्रदेश के मुख्यमंत्री सहित केंद्रीय मंत्रीगण उपस्थित रहेंगे। कितने वीवीआइपी रहेंगें,यह लिस्ट पीएमओ से ऐन वक्त पर ही जारी होगी। चीतों को एक माह क्वारंटाइन रखा जाएगा। चीतों को पहले 1500 वर्ग मीटर के बाड़े में छोड़ा जा रहा है, इसके बाद बड़े बाड़े में शिफ्ट किया जाएगा।

ग्वालियर में रिसीव करेंगे सीएम
 प्रदेश में आगमन के दौरान पीएम के लिए ग्वालियर ऐसा जिला होगा, जहां वे सबसे पहले उतरेंगे। इसके बाद कूनो के लिए रवाना होंगे। ग्वालियर में पीएम को रिसीव करने के लिए सीएम पहले से मौजूद रहेंगे। यहीं से हेलीकाप्टर से सीएम व अन्य वीवीआइपी कूनो के लिए रवाना होंगे। कूनो में तीस मिनट रूकने के बाद पीएम नरेन्द्र मोदी सीधे कराहल पहुंचेंगे। संभावित कार्यक्रम के अनुसार कराहल से दोपहर सवा बजे लगभग पीएम ग्वालियर एयरबेस के लिए रवाना होंगे। ग्वालियर एयरबेस पर पीएम पौने दस बजे लगभग पहुंच जाएंगे। कूनो से कराहल पहुंचने का समय हेलीकाप्टर से दस मिनट का है और कच्चे रास्ते से सड़क मार्ग से जाया जाए तो दो घंटे लगते हैं।

चीते वाला क्षेत्र प्रतिबंधित
 एक अक्टूबर से कूनो नेशनल पार्क खुल जाएगा और यहां बड़ी संख्या में पर्यटकों के आने की संभावना है। इसके लिए पार्क प्रबंधन भी तैयारी कर रहा है। वहीं जिस हिस्से में चीतों को छोड़ा जाएगा, वह पूरी तरह प्रतिबंधित रहेगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments